Pehchan Faridabad
Know Your City

हरियाणा में 2 दिन बाजार बंद का आदेश, व्यापारियों की कमर तोड़ने का काम कर रहा है। लखन सिंगला

भाजपा सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण को लेकर शनिवार-रविवार को दो दिन के लिए लगाए गए लॉकडाऊन को लेकर अब व्यापारियों का गुस्सा उफान पर पहुंच गया है। एक तो पहले ही मंदी की मार झेल रहे दुकानदारों व व्यापारियों के लिए यह दो दिन का लॉकडाऊन किसी बड़े झटके से कम नहीं है।

इस निर्णय को लेकर फरीदाबाद जिले के व्यापारी सरकार के खिलाफ लामबंद होने लगे है। इसी मामले को लेकर फरीदाबाद विधानसभा क्षेत्र के पूर्व कांग्रेस प्रत्याशी एवं व्यापारी नेता लखन कुमार सिंगला ने सेक्टर-7 मार्किट पहुंचकर दुकानदारों की समस्याओं को जाना।

इस दौरान दुकानदारों ने लखन सिंगला को बताया कि मार्च से हुए लॉकडाऊन से अब तक उनके व्यापार समाप्त होने की कगार पर है, रही सही कसर सरकार के दो दिनों के लॉकडाऊन के आदेश ने पूरी कर दी है और वह इस आदेश से बेहतर परेशान है। दुकानदारों की समस्याएं सुनने के बाद लखन सिंगला ने कहा कि भाजपा सरकार जनता की सुध लेने की बजाए नए-नए निर्णय लागू करके लोगों को परेशान करने का काम कर रही है।

दो दिन के लॉकडाऊन के इस निर्णय से व्यापारी व दुकानदारों तबाही के कगार पर पहुंच जाएगा और उनके समक्ष कामधंधे चलाने मुश्किल हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि पहले नोटबंदी ने व्यापारियों को तबाह कर दिया, फिर जीएसटी के माध्यम से व्यापारियों के धंधे ठप्प कर दिए और रही सही कसर मार्च महीने से लगे लॉकडाऊन ने पूरी कर दी है, जिन दुकानदारों ने दुकानें किराए पर ले रखी है और स्टाफ रख रखा है, दो दिन दुकानें बंद रहने से उनकी आर्थिक स्थिति बिगड़ जाएगी क्योंकि शनिवार और रविवार को ही सबसे ज्यादा ग्राहक बाजारों में आता है।

उन्होंने मौजूद दुकानदारों को विश्वास दिलाया कि वह हरियाणा विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री चौ. भूपेंद्र सिंह हुड्डा से आग्रह करेंगे कि वह इस मुद्दे को 26 अगस्त से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र के पटल पर रखें और सरकार को मजबूर करें कि इस तुगलकी फरमान को वापिस लिया जाए, जिससे कि व्यापारियों को राहत मिल सके। इस मौके पर नरेश भटेजा, ब्रजेश चौधरी, पवन अरोड़ा, हेमंत अरोड़ा, दीपक शर्मा, पवन यादव, मनोज बंसल, राजेश ढींगड़ा, कमल अरोड़ा, विजय जटवानी सहित अनेकों दुकानदार मौजूद थे।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More