Pehchan Faridabad
Know Your City

हरियाणा के युवाओं के लिए अच्छी खबर, सरकारी खर्चे पर ले ट्रेनिंग और पाए नौकरी ।

हरियाणा देश का ऐसा पहला राज्य बन गया है जो एक साथ प्रदेश के 50 हजार प्रतिभावान युवाओं को सरकारी नौकरियों में परीक्षाओं की तैयारी करवाने के लिए प्लेटफॉर्म उपलब्ध करवा रहा है। प्रदेश ही नहीं अन्य राज्यों तथा केंद्र की सरकारी नौकरियों में भी हरियाणा के युवा बाजी मार सकें, इसके लिए भी डिप्टी सीएम ने विशेष योजना तैयार की है। रेलवे, बैंक, कर्मचारी चयन आयोग, डिफेंस आदि में ग्रुप-सी, ग्रुप-डी के अलावा ग्रुप-ए व ग्रुप-बी और ‘गेट’ जैसी उच्च स्तर की तकनीकी परीक्षा की तैयारी करवाने की योजना है।

प्रदेश के युवाओं के इस सपने को साकार करने के लिए आज हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला की उपस्थिति में हरियाणा के रोजगार विभाग, एम3एम फाऊंडेशन तथा ग्रेडअप के मध्य एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। इस अवसर पर श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री श्री अनूप धानक, रोजगार विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री टी.सी गुप्ता के अलावा एम3एम फाऊंडेशन की प्रतिनिधि पायल कनोडिया, ग्रेडअॅप की प्रतिनिधि ऐश्वर्या व पंकज के अलावा रोजगार विभाग के कई वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने एमओयू पर हस्ताक्षर करने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि यह एमओयू प्रदेश के प्रतिभावान युवाओं को सरकारी नौकरी की तैयारी करवाने में मील का पत्थर साबित होगा। इसके तहत प्रथम चरण में 50,000 मेधावी अभ्यर्थियों को ऑनलाइन कार्यक्रम के माध्यम से ग्रुप-सी व ग्रुप-डी की नौकरियों के लिए कोचिंग दी जाएगी जिनमें 70 प्रतिशत ग्रामीण व 30 प्रतिशत शहरी युवाओं को शामिल करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि इस नए प्लेटफार्म के माध्यम से उन युवाओं को ऑनलाइन कोचिंग दी जाएगी जो हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के अंतर्गत हुई विभिन्न परीक्षाओं में प्रतिस्पर्धी रहे हैं और बहुत कम अंकों के अंतर से परीक्षा उत्तीर्ण करने से रह गए हैं। उन्होंने यह भी बताया कि हर सप्ताह व हर माह इनकी तैयारी की प्रगति की समीक्षा की जाएगी,इनमें से टॉप 1,000 युवाओं को लाइव कोचिंग देकर ग्रुप-ए तथा ग्रुप-बी की नौकरियों के लिए भी तैयार करने की योजना है।

डिप्टी सीएम ने इस योजना की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि इसके तहत ऑनलाइन कोचिंग प्रदान करने के लिए एम3एम फाऊंडेशन द्वारा ‘ग्रेड स्टैक लर्निंग प्राइवेट लिमिटेड (ग्रेडअप)’ प्लेटफार्म तैयार किया गया है जो रोजगार विभाग को एक वेब-लिंक प्रदान करेगा जिससे अभ्यर्थियों का पंजीकरण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रथम बैच के 50,000 अभ्यर्थियों को 18 महीनों के लिए वीडियो व्याख्यान, क्विज, मॉक टैस्ट, पिछले प्रश्न पत्र समेत अन्य पाठ्य सामग्री उपलब्ध करवाई जाएगी।

एक अभ्यर्थी अपनी सामग्री तक पहुंचने के लिए 3 पाठ्यक्रमों/परीक्षाओं जैसे बैंकिंग एंड इन्श्योरेंस, एसएससी एंड रेलवेज, सीडीएस एंड डिफेंस आदि का चयन कर सकता है। ग्रेडअप मासिक मॉक परीक्षा में अभ्यर्थियों के प्रदर्शन को दर्शाने के लिए एक डैशबोर्ड रोजगार विभाग को उपलब्ध करवाया जाएगा। डैशबोर्ड और साप्ताहिक डेटा के अध्ययन से अभ्यर्थियों के मॉक टेस्ट करवाए जाएंगे, जिनमें अच्छा प्रदर्शन करने वाले अभ्यर्थियों को कम प्रदर्शन करने वालों से हस्तांतरित किया जाएगा।

दुष्यंत चौटाला ने बताया कि वर्तमान में केंद्र सरकार की नौकरियों में हरियाणा की भागीदारी केवल 2 प्रतिशत है जिसको 7-8 प्रतिशत तक ले जाने का लक्ष्य है। उन्होंने बताया कि इस एमओयू के माध्यम से राज्य के युवाओं को ऐसी कोचिंग दिलवाएंगे जिससे वो अन्य राज्यों एवं केंद्र की सरकारी व प्राइवेट नौकरियों के लिए बेहतर प्रदर्शन करके चयनित हो सकें।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More