HomeIndiaफिर से टैंकों के साथ आए 500 चीनी सैनिक भारतीय सेना के...

फिर से टैंकों के साथ आए 500 चीनी सैनिक भारतीय सेना के जवानों ने ऐसे खदेड़ा!

Published on

फिर से टैंकों के साथ आए 500 चीनी सैनिक भारतीय सेना के जवानों ने ऐसे खदेड़ा :- धोखेबाज चीन लगातार सीमा पर तनाव बढ़ा रहा है. बातचीत के बाद अपने वादों से मुकर रहा है. यानी कि ऐसा करके विस्तारवादी चीन क्या करना चाहता है उससे भारत अच्छी तरह समझ चुका है. मगर अब उसे पता होना चाहिए कि जिस मंशा के साथ वो भारत पर दवाब बनाने की कोशिश कर रहा है.

अब ऐसा नहीं हो पाएगा क्यों कि भारत हर मोर्चे पर उसे तगड़ा जवाब देने के लिए तैयार है. हाल ही में हमारे शूरवीरों ने धोखेबाजी करने वाले चीन के सैनिकों को जो गर्दन तोड़ पराक्रम दिखाया उससे चीन को कितना बड़ा नुकसान हुआ उसे बताने से वो  गुरेज कर रहा है.

लेकिन क़ब्रों की फोटो सामने आने के बाद ये पता चल चुका है कि चीन को भारत से पंगा लेना भारी पड़ गया. इसीलिए अब चीन दोबारा से भारत के साथ धोखेबाजी करने की कोशिश की.

पूरे तैयारी से इस बार भी चीनी सैनिक सीमा पर कायराना हरकत को अंजाम देने के लिए पहुंचे मगर इस बार हंमारे जवान किस तरह से मुस्तैद थे जिसकी वजह से चीनियों को दुम दबाकर भागना पड़ा उसके बारे में सुनकर आप भी चौंक जाएंगे.

फिर से टैंकों के साथ आए 500 चीनी सैनिक भारतीय सेना के जवानों ने ऐसे खदेड़ा :- धोखेबाज चीन लगातार सीमा पर तनाव बढ़ा रहा है. बातचीत के बाद अपने वादों

दरअसल लद्दाख की सीमा पर 29-30 अगस्त की रात को पैंगोंग सो झील क्षेत्र के दक्षिणी तट की ओर से चायनीज सैनिकों ने फिर से घुसपैठ करने की कोशिश की. चीनी सैनिकों को इस प्रयास में मुँह की खानी पड़ी. क्यों कि उसे नहीं पता था कि इस बार भारतीय सैनिक पूरी तरह से सतर्क है.

दरअसल भारतीय सैनिकों ने पैंगोंग त्सो के दक्षिण तट पर घुसपैठ कर रहे चीनी सैनिकों को खदेड़ दिया.  लेकिन सुनने में आपको ये जितना आसान लग रहा है. ऐसा करना काफी चुनौतीपूर्ण था. हकीकत में चीनी सैनिकों को पीछे धकेलना मुस्तैदी और शौर्य भरा काम था.

फिर से टैंकों के साथ आए 500 चीनी सैनिक भारतीय सेना के जवानों ने ऐसे खदेड़ा :- धोखेबाज चीन लगातार सीमा पर तनाव बढ़ा रहा है. बातचीत के बाद अपने वादों

ऐसा इसलिए क्योंकि चायनीज सैनिक इस बार बहुत ही तैयारी के साथ आए थे. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग सो झील के पास 500 से अधिक चीनी सैनिकों ने भारतीय इलाकों में घुसने का प्रयास किया.

चीनियों के आक्रामक रवैये को समझना है तो सिर्फ 500 से ज्यादा सैनिकों की घुसपैठ को मत देखिए. क्यों कि नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट बताती है कि इन 500 से अधिक चायनीज सैनिकों को कवर करने के लिए इनके साथ-साथ टैंक भी आए थे.

फिर से टैंकों के साथ आए 500 चीनी सैनिक भारतीय सेना के जवानों ने ऐसे खदेड़ा :- धोखेबाज चीन लगातार सीमा पर तनाव बढ़ा रहा है. बातचीत के बाद अपने वादों
Credit : Eurasian Times

हालाँकि भारतीय सेना चीनियों की इस आक्रामक नीति और चुपके से घुसपैठ करने की प्रवृति से वाकिफ थी. इसीलिए हर तरह से तैयार भी थी. अपनी सीमा की भारतीय शूरवीरों ने ऐसी घेराबंदी की कि चायनीज सैनिकों को बिना लड़े अपनी जान बचाकर भागना पड़ा.

खैर इससे साफ है कि चीन कितनी भी चालबाजी कर ले लेकिन अब उसकी चालबाजी का भारत हर मोर्चे पर हर तरह से कड़ा जवाब देने के लिए तैयार है. चीन शायद यह भूल गया है की ये भारतीय सेना है जो जान दे देगी पर भारत की ज़मीन का एक इंच भी नहीं देगी।
Credit: VKNEWSINDIA

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...