Pehchan Faridabad
Know Your City

मेट्रो परिचालन शुरू होने से सफर होगा आसान, परंतु यात्रा की राह नहीं होगी सुगम

मेट्रो परिचालन शुरू होने से सफर होगा आसान, परंतु यात्रा की राह नहीं होगी सुगम
अनलॉक प्रक्रिया शुरू होते ही रियायतों की बौछार की जा रही है। ऐसे में आमजन के चेहरे पर एक बार फिर खुशी की झलक देखी जा सकती हैं। अनलॉक प्रक्रिया 4 शुरू होते ही अब मेट्रो ट्रेन के संचालन के लिए भी मंजूरी दी जा चुकी है।

परंतु मेट्रो स्टेशन का सफर जितना आसान होगा, उससे कई ज्यादा इसकी यात्रा
कठिन होगी। इसका कारण यह है कि कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते मेट्रो का सफर करना अब इतना आसान नहीं होगा। कदम कदम पर नई-नई परिवर्तन का यात्रियों को सामना करना पड़ेगा। मेट्रो स्टेशन में आने वाले सभी यात्रियों का फेस मास्क लगाना अनिवार्य होगा साथ ही सोशल डिस्टेंस का पालन करना भी जरूरी होगा।

दिल्ली मेट्रो के लिए डीएमआरसी और सीआईएसएफ ने मिलकर नए नियमों की रूपरेखा तैयार कर ली है। देश के अन्य हिस्सों में चल रही मेट्रो के मामले में भी कमोबेश वही नियम तय किए गए हैं, लेकिन यह नियमावली जून में उस वक्त बनाई गई थी,

जब अनलॉक-1 शुरू हुआ था। परंतु बढ़ते कोरोना वायरस केे मामलों को मेट्रो परिचालन को मंजूरी नहीं मिल सकी थी। पर अब अनलॉक प्रक्रिया 4 के दौरान 7 सितंबर से मेट्रो परिचालन को देशभर में लागूू करने की अनुमति दी गई हैं।

विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से होने वाली इस मीटिंग में देश के सभी राज्यों में मेट्रो के परिचालन का जिम्मा संभाल रही कंपनियों के मैनेजिंग डायरेक्टर और अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे।

इसी मीटिंग में मेट्रो के परिचालन से जुड़ी स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर (एसओपी) पर चर्चा की जाएगी और अगर उसमें कुछ नए नियम जोड़ने या कुछ पुराने बिंदु हटाने की आवश्यकता है,

तो उस पर विचार विमर्श कर फाइनल एसओपी जारी की जाएगी। इस एसओपी में जो नियम कायदे बताए जाएंगे, उन्हीं के अनुसार आगे चलकर मेट्रो का परिचालन और मेंटिनेंस किया जाएगा और सभी कंपनियों को पूरी सख्ती के साथ इन नियमों का पालन सुनिश्चित करना होगा।

करीब 70 हजार यात्री एनसीआर के लिए मेट्रो से करते है सफर

शहर में दिल्ली के बदरपुर मेट्रो स्टेशन के बाद से फरीदाबाद जिले की सीमा से मेट्रो स्टेशन शुरू हो जाते हैं। जिसमें सबसे पहला है सराय मेट्रो स्टेशन। उसके बाद एनएचपीसी, मेवला महाराजपुर, सेक्टर 28, बढ़खल मोड, ओल्ड फरीदाबाद, नीलम अजरौंदा चौक, बाटा चौक, एस्कॉर्ट मुजेस,र संत सूरदास और सबसे आखिर में आता है राजा नाहर सिंह बल्लभगढ़ मेट्रो स्टेशन। जानकारी के मुताबिक रोज आने में स्टेशनों से करीबन 70,000 से अधिक लोग दिल्ली एनसीआर के लिए सफर करते हैं।

मेट्रो स्टेशन के बाहर रेहड़ी पटरी पर रहेगा फुल स्टॉप

इंस्पेक्टर ट्रैफिक दलवी ने बताया कि मेट्रो स्टेशनों के बाहर रेहड़ी लगाकर समान बेचने वाले हर व्यक्ति को रोका जाएगा। इसका कारण यह है कि इससे स्टेशन के बाहर उमड़ने वाली भीड़ को रोका जा सके। साथ ही ट्रैफिक की मदद ऑटो चालकों पर नजर रखा जा सके और उन्हें भी निर्धारित स्टॉपेज पर ही खड़े रहने के लिए निर्देश दिए जाएंगे, ताकि मेट्रो स्टेशन के बाहर सोशल डिस्टेंस का पालन कराया जा सके।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More