HomeEducationIAS इंटरव्यू में पूछा गया सवाल, ऐसा काम जिसे आदमी ज़िंदगी में...

IAS इंटरव्यू में पूछा गया सवाल, ऐसा काम जिसे आदमी ज़िंदगी में 1 बार करता है और औरत हर रोज़ करती है, जानिये इसका जवाब

Published on

भारत में किसी न किसी दिन हर युवक सरकारी नौकरी और IAS बन ने का सपना ज़रूर देखता है। हर सुयोग्य भारतीय का यह सपना होता है IAS, IPS या IFS में पद हासिल करने का। कई युवा सालों तैयारी करते हैं लेकिन उन्हें सफलता हाथ नहीं लगती जबकि कुछ युवा साथी अपनी तैयारी इतने स्मार्ट तरीके से करते हैं कि उन्हें पहली बार में ही सफलता मिल जाती है।

IAS के इंटरव्यू के बारे में हम सभी जानते हैं कि यह कितना कठिन होता है। एक ऐसा काम जिसे आदमी ज़िंदगी में 1 बार करता है और औरत हर रोज़ करती है? यह सवाल भी पपूछा गया था। इसका सही जवाब आप में से बहुत लोग शायद नहीं जानते होंगे।

IAS इंटरव्यू में पूछा गया सवाल, ऐसा काम जिसे आदमी ज़िंदगी में 1 बार करता है और औरत हर रोज़ करती है, जानिये इसका जवाब

पहचान फरीदाबाद आज आपको इसका जवाब बताएगा। दरअसल, इसका जवाब है “माँग में सिन्दूर भरना” यह इसलिए सही है क्योंकि एक आदमी अपनी पत्नी की माँग में सिन्दूर सिर्फ शादी के वक्त ही भरता है जो हो गया उसकी जिन्दगी में बस एकबार। लेकिन शादी के बाद एक औरत हर रोज़ अपनी माँग में सिन्दूर भरती है जो की हो गया पति के द्वारा एक बार किया गया काम बार बार करना।

IAS इंटरव्यू में पूछा गया सवाल, ऐसा काम जिसे आदमी ज़िंदगी में 1 बार करता है और औरत हर रोज़ करती है, जानिये इसका जवाब

पहचान फरीदाबाद अपने पाठकों के लिए नई – नई जानकारियां तो लाता ही है साथ में रोचक तथ्य भी बताता है। वैसे देखा जाए तो ये जवाब ठीक नही भी है क्योंकि ज़रूरी नहीं कोई आदमी सिर्फ शादी के वक्त ही सिन्दूर लगाये अपनी पत्नी की माँग में, वह शादी के बाद भी ऐसा कर सकता है और आमतौर पर ऐसा होता भी है। और यह भी हो सकता है की कोई औरत सिन्दूर ना लगाती हो अपनी रोज़ मर्रा की जिंदगी में।

IAS इंटरव्यू में पूछा गया सवाल, ऐसा काम जिसे आदमी ज़िंदगी में 1 बार करता है और औरत हर रोज़ करती है, जानिये इसका जवाब

माँग में सिन्दूर भरना ही इस सवाल का एक दम सटीक जवाब है। IAS नाम असान है लेकिन इस नाम को पाना बहुत कठिन। वास्तव में सबसे पहले जरूरी है कि हम अपने मानस को पूरी तरह इस कठिन परीक्षा के लिए तैयार करें। सिर्फ सपने देखने और प्रतिभा होने मात्र से कुछ नहीं होता जरूरी है प्रतिभा, मेहनत और व्यक्तित्व के कुशल तालमेल के साथ इस परीक्षा को अटेम्प्ट किया जाए।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...