HomeFaridabadबदलाव: बीटेक -एमटेक डिग्री होल्डर्स पुलिस को मिलेगा जर्नल ड्यूटी से छुटकारा

बदलाव: बीटेक -एमटेक डिग्री होल्डर्स पुलिस को मिलेगा जर्नल ड्यूटी से छुटकारा

Published on

जिस प्रकार सैनिक विदेशी शत्रुओं से देश की रक्षा करते हैं, उसी प्रकार राष्ट्र-विरोधी तत्त्वों से पुलिस हमारी रक्षा करती है।
पुलिस का कार्य बड़ा कठिन है । राजनेताओं की विभिन्न रैलियों के दौरान सुरक्षा और यातायात की व्यवस्था बनाये रखना, जलूसों को शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न करना, हड़ताल, धरनों और बंद के दौरान असामाजिक तत्त्वों से राष्ट्र की सम्पत्ति की रक्षा करना, राजनेताओं की व्यक्तिगत सुरक्षा करना, चोर डकैतों और लुटेरों से आम नागरिक की रक्षा करना पुलिस का दायित्व है ।

बदलाव: बीटेक -एमटेक डिग्री होल्डर्स पुलिस को मिलेगा जर्नल ड्यूटी से छुटकारा

पुलिस में शिक्षित, स्वस्थ और ऊँचे कद के जवान होते हैं । उन की वर्दी प्राय: खाकी होती है । प्रत्येक राज्य में कई पुलिस लाइनें होती हैं, जहाँ पुलिस के जवान रहते हैं । पुलिस चौकियों पर वे अपने कार्य काल के दौरान तैनात रहते हैं ।

जो पुलिस दिन रात जनता की रक्षा करके अपना कर्तव्य निभाते है और सबकी जिंदगी में बदलाब लाते है उसी प्रकार अब पुलिस कर्मियों की जिंदगी में भी बदलाब क्या जा रहा है ।हरियाणा पुलिस में तकनीकी व उच्च शिक्षा के दम पर कांस्टेबल की नौकरी हासिल करने वाले पुलिस कर्मियों अब थाने व चोकीओ पर जर्नल ड्यूटी नही करनी पड़ेगी ।उन्हें उनकी पढ़ाई के अनुसार कंप्यूटर पर ड्यूटी करने जिमेदारी दी जाएगी ,ताकि वह अपनी स्किल्स के मुताबिक बेहतर आउटपुट दे सके।
पुलिस कमिश्नर ऑफिस सिंह के निर्देश के बाद जवानों ने कंप्यूटर पर काम करना शुरू कर दिया है।

बदलाव: बीटेक -एमटेक डिग्री होल्डर्स पुलिस को मिलेगा जर्नल ड्यूटी से छुटकारा

2018 में हरियाणा में पुलिस भर्ती हुई थी। लेकिन उनमें से कुछ ऐसे युवक युक्तियां भी थे m-tech बी टेक दिए थे। मधुबन में करीब डेढ़ साल ट्रेनिंग के बाद सभी कॉन्स्टेबल को अलग-अलग जगह अप्वॉइंट किया गया था। उनमें से कुछ पुलिस कर्मियों की तैनाती फरीदाबाद में भी की गई थी। जो विभिन्न थानों चौकियों मैं अन्य जगह जनरल ड्यूटी दे रहे थे। लेकिन अब उच्च शिक्षा प्राप्त किए हुए पुलिस कर्मियों को उनकी काबिलियत के अनुसार ही ड्यूटी दी जाएगी।

बदलाव: बीटेक -एमटेक डिग्री होल्डर्स पुलिस को मिलेगा जर्नल ड्यूटी से छुटकारा

पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने सभी पुलिसकर्मियों की जांच की और हर एक पुलिसकर्मी को उनकी काबिलियत के अनुसार अप्वॉइंट करने की बात कही है पहले उन सभी पुलिसकर्मियों को लघु सचिवालय सेक्टर 12 में सीसीटीएनएस लैब में ट्रेनिंग दी जाएगी, और उन्हें कंप्यूटर के कार्य के लिए तैयार किया जाएगा।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...