Pehchan Faridabad
Know Your City

फरीदाबाद-गुरुग्राम मार्ग पर मेट्रो की यात्रा दिखाएगा अरावली की हरियाली का नजारा

फरीदाबाद में ऑक्सीजन फैक्ट्री के नाम से मशहूर अरावली पहाड़ियों का रोमांचक नजारा आज तक आपने वहां से गुजरने के दौरान ही देखा होगा। लेकिन अब फरीदाबाद गुरुग्राम से गुजरने वाली मेट्रो आपको मेट्रो यात्रा के दौरान इस रोमांचक नजारे का लुफ्त उठाने में मददगार साबित होगी।

इतना ही नहीं आपके जहन में भी यह सवाल उठते होंगे कि अवैध खनन से अरावली की पहाड़ियों की उजड़ी हरियाली से वन्य प्राणी किस तरह प्रभावित हुए होंगे? अब फरीदाबाद-गुरुग्राम मेट्रो ट्रेन सारी उत्‍सुकता काे शांत करेगा। इस मेट्रो का सफर अरावली के मनोरम नजारा कराएगा।

20 किलोमीटर में दोनों तरफ दूर तक दिखेगी अरावली पहाड़ियों की सुंदरता

गौरतलब, वर्ष 2002 में सुप्रीम कोर्ट के आदेश खनन पर प्रतिबंध लगाए जाने के 18 वर्ष बाद अब इस पर्वतमाला की दूर-सुदूर तक स्थिति कैसी है? जिज्ञासा और मन के सवालों के जबाव अब आपको फरीदाबाद-गुरुग्राम मार्ग पर ऊपरगामी मेट्रो रेल लाइन के सफर के दौरान मिला करेंगे। इस मेट्रो लाइन के निर्माण की प्रक्रिया शुरू करने को हरियाणा सरकार अंतिम चरण में कार्य कर रही है।

यात्रा के दौरान यात्री औसतन 40 फीट ऊंचाई पर होता है।

असल में फरीदाबाद से गुरुग्राम तक के 36.1 किलोमीटर लंबी मेट्रो रेल लाइन में से 20 किलोमीटर के सफर के दौरान दोनों तरफ अरावली की पहाड़ियां और हरियाली दिखाई देगी। यात्रियों के लिए यह मनोहारी और रोमांचक नजारा रहेगा।

ऊपरगामी मेट्राे रेल लाइन औसतन 10 मीटर (32.8 फीट) ऊंचे पिलर्स पर तैयार होती है। इससे यात्रा के दौरान यात्री औसतन 40 फीट ऊंचाई पर होता है। इतनी ऊंचाई से अरावली के आंतरिक हिस्सों का दीदार आसानी से किया जा सकेगा।

हरियाणा मास रेपिड ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन लिमिटेड को राज्य की मुख्य सचिव के माध्यम से अब ऐसे प्रस्ताव भी मिलने लगे हैं कि यदि फरीदाबाद-गुरुग्राम मार्ग पर मेट्रो पिलर्स की औसत से कुछ मीटर और ऊंचाई पर बढ़ा दी जाए तो यह लाइन पर्यटन की दृष्टि से भी अहम हो जाएगी। पर्यावरणविद् से लेकर पर्यटक भी अरावली का मनमोहक नजारा देखने के लिए मेट्रो का सफर करेंगे।

इस मेट्रो लाइन की प्रक्रिया में तेजी लाने के उद्देश्य मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा की अध्यक्षता में बैठक हुई। वरिष्ठ अधिकारियों का मानना था कि अरावली में के वन्य प्राणियों को देखने के लिए भी लोग परिवार सहित यहां मेट्रो से सफर कर सकते हैं। कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा ने मेट्रो पिलर्स की ऊंचाई बढ़ाने के लिए मुख्य सचिव को पत्र लिखा है।

हरियाणा की विधायक एवं पूर्व मुख्य संसदीय सचिव सीमा त्रिखा ने इस संबंध में अपनी प्रतिक्रिया और खुशी जाहिर करते हुए कहा कि फरीदाबाद-गुरुग्राम मेट्रो रेल लाइन को पर्यटन की दृष्टि से अहम बनाने के लिए कई सुझाव राज्य सरकार के पास आ रहे हैं।

पिलर्स की ऊंचाई औसतन 10 मीटर से ज्यादा कितनी की जा सकती है और मेट्रो की कितनी स्पीड में कितनी ऊंचाई से कितनी दूर तक का नजारा देखा जा सकता है, इसके तकनीकी पहलुओं पर भी रिपोर्ट ली जा रही है। फिलहाल हमारा फोकस है कि फरीदाबाद-गुरुग्राम मेट्रो रेल के सफर के दौरान यात्रियों को अरावली की आंतरिक सुंदरता दिखाने के प्रस्ताव को सिरे चढ़ाया जाए।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More