Pehchan Faridabad
Know Your City

संवदेनशील कॉलोनियों में रैपिड एंटीजन टेस्ट के जरिए जानेंगे मरीजो की संख्या

कोरोना वायरस की बढ़ती संख्या को देखते हुए अब स्वास्थ्य विभाग इसकी जड़ तक पहुंचने में जुटा हुआ है, ताकि इस वायरस की आबोहवा को बदल लोगों को इसके संक्रमण ने आने से बचाया जा सके।

वहीं यह संक्रमण कितनी तेजी से बढ़ रहा है इसकी वजह और गंभीरता को समझते हुए अब संवेदनशील कॉलोनियों में विशेष सर्वे अभियान के जरिए रैपिड एंटीजन टेस्ट करवाया जाएगा।

इस सर्व से यह पता लगाया जा सकेगा कि आखिर संक्रमण कितनी आबादी को अपनी चपेट में ले चुका है। वही अभी तक इस संक्रमण विस्तार की दर क्या है ?

जानकारी के मुताबिक अगस्त माह के ज़ीरो सर्वे परिणाम में यह खुलासा भी हुआ है कि जिले के 25. 8 फ़ीसदी सैंपल (इन आबादी के बिना किसी के 850 लोग सर्वे में चुने गए थे) में एंटीबॉडी पाई गई है। यही कारण है कि इसके बाद स्वास्थ्य विभाग में रैपिड एक्शन स्ट्रेटजी के तौर पर यह निर्णय लिया है।

जिसके लिए पर्वतीय कॉलोनी जैसी सर्वाधिक संक्रमण ग्रस्त कारणों कालोनियों को विभाग ने विशेष सर्वे अभियान के लिए चिन्हित किया है। वहीं इन इलाकों से आए दिन संक्रमण के मामले मिलते रहें हैं। सर्वे के दौरान कालोनियों में रैपिड एंटीजन टेस्ट किया जाएगा।

जिसके लिए आशा कार्यकर्ता सहयोगी के रूप में कार्यरत होंगी। यह लोगों को प्रेरित कर सर्व को कामयाब बनाने में मदद करेंगे। जिसके बाद परिणाम के आधार पर विभाग इस निष्कर्ष पर पहुंचेगा कि किस जिले में संक्रमण विस्तार की रफ्तार और पकड़ कितनी बड़ी है?

इन कालोनियों में होगा रैपिड एंटीजन टेस्ट

संजय कॉलोनी, पर्वतीय डबुआ, जवाहर कॉलोनी एसजीएम नगर, चावला कॉलोनी एनएच 1,2,3,4, 5 सूरजकुंड कॉलोनी, भीम बस्ती, सेक्टर 7, 11, 14, 16 गांधी कॉलोनी, आदर्श नगर, एत्मादपुर, सेहतपुर इत्यादि।

वही मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ रणदीप पुनिया ने बताया कि को कोरोना वायरस के संक्रमण की वास्तविक सकारात्मक दर को जांचने के लिए टेस्टिंग सर्वे किया जाएगा। वहीं सर्वे के लिए 20 संवेदनशील कालोनियों को चिन्हित किया गया है, क्योंकि सिरो सर्वे में 25. 8 फ़ीसदी सर्वाधिक सुरक्षित मिली है, इसलिए संवेदनशील इलाकों से वास्तविक आकलन करेंगे।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More