HomeFaridabadफरीदाबाद के बल्लभगढ़ इलाके में गम्भीर हालत में पाई गई य दुर्लभ...

फरीदाबाद के बल्लभगढ़ इलाके में गम्भीर हालत में पाई गई य दुर्लभ प्रजाति की पक्षी

Published on

बदल रही है लोगो की जरूरतें और साथ ही बदल रही है समय की तस्वीर।हर वो छीज आज लुप्त हो रही है जो कभी हुआ करती थी।फिर चाहे वो खाने पीने से जुड़ी कोई वस्तु हो या हो  प्रकर्ति से जुड़ी।

फरीदाबाद के बल्लभगढ़ इलाके में गम्भीर हालत में पाई गई य दुर्लभ प्रजाति की पक्षी

आज इंसान इतना स्वार्थी हो गया है कि आपने हित के लिए प्रकर्ति को नष्ट करता जा रहा है।ऐसे कई पेड़ पौधे , कई जीव जंतु है जिन्हें हमारी आज की पीढ़ी बहुत कम देख पाती है और शायद आने वाली पीढ़ी कभी देख ही ना पाए ।

हाल ही में ऐसी ही खबर बल्लभगढ़ के की एक छोटी सी बस्ती से आई ,जिसमे बहुत कम पायी जाने वाली पक्षी बेहाल हालत म पायी गयी ।आपको बतादे की उस पक्षी का नाम हार्नबिल है ।जिसे प्रीति दुबे (animal activist)ने अपनी इंसानियत दिखाते हुए उस पक्षी को रेस्क्यू किया और उसकी जान बचाई ।हालांकि ये कार्य एनिमल हसबेंडरी के पास होता है ,लेकिन बार बार कॉल करने के बाद भी कोई जबाब न आने पर प्रीति दुबे ने खुद जाकर उस पक्षी को रेस्क्यू करने का कार्य किया ।

फरीदाबाद के बल्लभगढ़ इलाके में गम्भीर हालत में पाई गई य दुर्लभ प्रजाति की पक्षी

ग्रेट इंडियन हॉर्नबिल एक बहुत बड़े आकार का पक्षी होता है, इसका आकार 37 इंच से लेकर 51 इंच तक हो सकता है इसके पंखों का फेलाव 60 इंच का होता है तथा इसका भार ढाई से 4 किलो के बीच पाया गया है, हॉर्नबिल की प्रजाति में यह सबसे भारी पक्षी होता है, मादा इंडियन हॉर्नबिल नर से छोटी होती है जिसकी आंखें नीली सफेद होती है नर पक्षी की आंखें लाल रंग की होती है

फरीदाबाद के बल्लभगढ़ इलाके में गम्भीर हालत में पाई गई य दुर्लभ प्रजाति की पक्षी

ग्रेट इंडियन हॉर्नबिल की सबसे अजीब विशेषता इसकी बड़ी चोंच के ऊपर सर पर स्थित पीले केसरिया लाल रंग की टोपी जैसी संरचना होती है, जिसकी वजह से इसे आसानी से पहचाना जा सकता है, मादा पक्षी में इस टोपी का रंग पीछे की तरफ लाल होता है,  इसके पंखों के फड़फड़ाने की आवाज बहुत तेज होती है जब यह उड़ान भरता है तो इसकी आवाज बहुत दूर से सुनी जा सकती है. यह जंगलों के ऊपर उड़ते हैं ।https://twitter.com/preetid23245746/status/1302176428885078016?s=20

य एक ऐसा पक्षी है जो सिर्फ भारत मे पायी जाती है, इस का हिंदी नाम धनेश पक्षी है तथा इसका वैज्ञानिक नाम Buceros bicornis है ।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...