Online se Dil tak

बल्लभगढ़ के बाज़ारों में जाम रोकने का नहीं हुआ इंतज़ाम। आखिर क्या कर रहा है प्रशासन ?

कोरोना संक्रमण के मामलों में हो रही बढ़ोतरी को देखते हुए बल्लभगढ़ के बाज़ारों में भारी वाहनों की एंट्री को रोकने के लिए प्रशासन ने बैरियर लगाने का फैसला लिया था। जिससे बड़े और भरी वाहनों की बाज़ारों में एंट्री पर रोक लगायी जा सके। इस फैसले के अनुसार बैरियर लगाने के लिए लोहे के कॉलम भी खड़े कर दिए थे।

मगर हैरानी की बात तो यह है कि इन कॉलम पर अभी तक पाइप नहीं लगा है जिसकी वजह से स्थिति में कोई सुधार नज़र नहीं आता। बाज़ारों की जो हालत पहले थी वो ही आज भी है। बाजार में लगभग हर समय जाम लगा ही रहता है।

बल्लभगढ़ के बाज़ारों में जाम रोकने का नहीं हुआ इंतज़ाम। आखिर क्या कर रहा है प्रशासन ?
बल्लभगढ़ के बाज़ारों में जाम रोकने का नहीं हुआ इंतज़ाम। आखिर क्या कर रहा है प्रशासन ?

बल्लभगढ़ के मैं मार्किट में दिन के समय भारी वहां आते हैं। वीकेंड पर तो यहाँ और भी बुरा हाल हो जाता है। शनिवार और ऐतवार के दिन शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्र से भी काफी लोग खरीदारी के लिए आते हैं। यहां ट्रैफिक जाम को रोकने के लिए साल 2003 में प्रशासन की ओर से बाज़ार के प्रवेश द्वार पर लोहे के बैरियर लगाए गए थे।

बल्लभगढ़ के बाज़ारों में जाम रोकने का नहीं हुआ इंतज़ाम। आखिर क्या कर रहा है प्रशासन ?
बल्लभगढ़ के बाज़ारों में जाम रोकने का नहीं हुआ इंतज़ाम। आखिर क्या कर रहा है प्रशासन ?

ये बैरियर गुप्ता होटल चौक, पूर्व पार्षद मीरा गोयल वाली गली में, आंबेडकर चौक, सीही गेट और चंदावली गेट पर लगाए गए थे। शुरुवात में तो इन सभी बैरियर पर पुलिस कर्मी भी तैनात रहते थे पर कुछ समय बाद ये सभी बैरियर गैस कटर से काट दिए गए।

बल्लभगढ़ के बाज़ारों में जाम रोकने का नहीं हुआ इंतज़ाम। आखिर क्या कर रहा है प्रशासन ?
बल्लभगढ़ के बाज़ारों में जाम रोकने का नहीं हुआ इंतज़ाम। आखिर क्या कर रहा है प्रशासन ?

मौजूदा हाल के मद्देनज़र, प्रशासन ने एक बार फिर सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए मुख्य प्रवेश द्वार पर बैरियर लगाने का निर्णय लिया था। जिसके चलते मोहना रोड और आंबेडकर चौक के पास लोहे के कॉलम खड़े कर दिए थे। मगर इन पर अभी तक लोहे का पाइप नहीं लगाया गया है। एसडीएम का कहना है कि इस बारे में संबंधित अधिकारीयों से बात की जाएगी।

Written By- MITASHA BANGA

Read More

Recent