Homeशादी के 17 दिन बाद महिला ने दिया बच्चे को जन्म, प्रेमी...

शादी के 17 दिन बाद महिला ने दिया बच्चे को जन्म, प्रेमी को बचाने के लिए पिता-भाई पर मढ़ा दोष

Published on

शादी का बंधन यूँ तो सबसे पवित्र माना जाता है लेकिन कुछ लोग इसमें भी देगा कर देते हैं। उन्नाव में एक नई नवेली दुल्हन शादी के 17 दिनों बाद मां बन गई और उसने एक बेटे को जन्म दिया। जिसके बाद ससुराल वालों ने लड़की के घर वालों को बुलाकर सच जाने की कोशिश की। हालांकि इस दौरान मायके पक्ष के लोगों ने ससुर को जान से मारने की नीयत से हमला कर दिया।

भरोसा ही सबसे बड़ा कारगर हथियार है जिसके सहारे रिश्तों को बचाया जा सकता है। ये मामला पुलिस थाने पहुंच गया और पुलिस के सामने महिला ने अपनी पुरी कहानी सुनाई। ये घटना साल 2019 के दिसंबर महीने की है।

शादी के 17 दिन बाद महिला ने दिया बच्चे को जन्म, प्रेमी को बचाने के लिए पिता-भाई पर मढ़ा दोष

किसी भी धर्म में शादी में दगा करना नहीं सिखाया गया है। लेकिन इस खबर में बताया जा रहा है कि महिला ने उस समय एसपी से मिलकर उन्हें बताया कि उसके पिता और भाई उससे देह व्यापार करा रहे थे। इतना ही नहीं उन्होंने खुद भी उससे दुष्कर्म किया। महिला की शिकायत के आधार पर एसपी के निर्देश पर 29 दिसंबर 2019 को केस दर्ज किया गया।

यहाँ पर मामला भले ही प्रेम का हो या किसी और बात का लेकिन पुलिस ने महिला की तहरीर के आधार पर उसके पिता, दो सगे, चचरे भाइयों समेत 10 लोगों पर सामूहिक दुष्कर्म, जान की धमकी, मारपीट समेत अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू की थी।

शादी के 17 दिन बाद महिला ने दिया बच्चे को जन्म, प्रेमी को बचाने के लिए पिता-भाई पर मढ़ा दोष

प्रेमी को बचाने के लिए न जाने लोग क्या – क्या नहीं कर ;लेते हैं और पुलिस के अनुसार महिला ने झूठी कहानी पुलिस को सुनाई थी। इस महिला का चक्कर दिलीप नाम के युवक से चल रहा था। इस दौरान महिला ने गर्भ धारण कर लिया। जब लड़की के परिवार वालों को ये बात पता चली तो उन्होंने इसकी शादी करवा दी।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...