HomeFaridabadफरीदाबाद की निर्दयी मां को बेटी की हत्या में सज़ा दिलवाने के...

फरीदाबाद की निर्दयी मां को बेटी की हत्या में सज़ा दिलवाने के लिए, लटजीरा के बीज निभाएंगे अहम भूमिका

Published on

मां तो वो होती है जो सभी दुःख सहकर भी अपनी औलाद को सभी सुख देती है। लेकिन यह ज़माना कुछ अलग ही हो रहा है भाई – भाई का दुश्मन हो रहा है, बीवी पति से दगा कर रही है और माँ अपनी बेटी को इस दुनिया से हमेशा के लिए अलविदा कर रही है। कुछ दिनों पहले हुए फरीदाबाद में ख़ुशी हत्या कांड में लटजीरा के बीज हत्यारोपित मां रानी की गिरफ्तारी का आधार बने थे।

किसी भी मां के लिए उसकी औलाद सबसे प्यारी होती है लेकिन अब अदालत में दोषी को सजा दिलाने में लटजीरा का बीज अहम भूमिका निभाएगा। पुलिस इन बीजों को अदालत में बतौर सबूत पेश करेगी। खुशी और उसकी मां के कपड़ों को पुलिस ने फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा है।

फरीदाबाद की निर्दयी मां को बेटी की हत्या में सज़ा दिलवाने के लिए, लटजीरा के बीज निभाएंगे अहम भूमिका

इस हत्या कांड से फिरसे यही जान ने को मिला है कि कानून के हाथ सबसे लंबे होते हैं। अब इस मामले में फॉरेंसिक टीम लैब में मिलान करेगी कि कपड़ों पर लगे बीज, एक ही पेड़ के हैं या नहीं। बीजों का मिलान हो जाता है, तो पुलिस के लिए अदालत में ये साबित कर पाना आसान हो जाएगा कि उस दिन रानी अपनी बेटी खुशी के साथ वारदात स्थल पर मौजूद थी। लटजीरा के बीजों के अलावा फॉरेंसिक लैब में दोनों के कपड़ों पर लगी मिट्टी का भी मिलान होगा।

फरीदाबाद की निर्दयी मां को बेटी की हत्या में सज़ा दिलवाने के लिए, लटजीरा के बीज निभाएंगे अहम भूमिका

इस मामले ने सबको हैरान कर दिया है कि कैसे एक मां अपनी बेटी की हत्या कर देती है। और आपको बता दें कि संजय कॉलोनी से 10 सितंबर को लापता आठ वर्षीय खुशी का शव अगले दिन गांव बघौला पलवल में मिला था। जांच में पुलिस को उसकी मां रानी पर संदेह हुआ, मगर गिरफ्तारी का ठोस आधार नहीं था।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...