Pehchan Faridabad
Know Your City

धूल से सनी हुई है उपमुख्यमंत्री के पर दादा की प्रतिमा, बरसों से नही की गई सफाई

स्मार्ट सिटी फरीदाबाद के सबसे चर्चित उद्यानों में से एक टाउन पार्क में प्रशासन द्वारा की गई लापरवाही देखी जा सकती है। तकरीबन 2 वर्ष पूर्व पार्क में मुख्यमंत्री समेत क्षेत्र के अन्य नेतागणों ने पौधरोपण किया था। पर इस समय पर वह सभी पौधे एकदम जर्जर हालत में हैं।

एसा प्रतीत होता है जैसे 2 साल के अंतराल में किसी ने इन पौधों पर ध्यान न दिया हो। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर समेत अन्य विधायकों ने पार्क में पौधे लगाकर पर्यावरण को बचाने का संदेश दिया था।

बीतते समय के साथ साथ वह पौधे भी जर्जर अवस्था में पहुंच गए और अब मुरझाने की कगार पर हैं। कम ही लोग इस बात से अवगत हैं कि टाउन पार्क में देश का सबसे ऊंचा झंडा लहराता है। शहर का यह पार्क इसके मान और प्रतिष्ठा में इजाफा करता है।

पर बात की जाए झंडे के प्लैंक बोर्ड की तो उस पर से कुछ अक्षर भी गायब हैं। जिस बोर्ड में झंडे का विवरण दिया गया है उस पर धूल जमा हुई पड़ी है और कुछ अक्षर भी टूट गए हैं। आपको बता दें कि देश के सबसे ऊंचा तिरंगा फरीदाबाद में वर्ष 2015 में फहराया गया था।

5 साल की समय अवधि में ही झंडे से जुड़े बोर्ड की हालत बिगड़ चुकी है। अब बात की जाए टाउन पार्क की सबसे पुरानी धरोहर की तो उसके हाल भी देखते नही बनते। सालों से टाउन पार्क में सुसज्जित पूर्व उपप्रधानमंत्री चौधरी देवी लाल की प्रतिमा की हालत भी खराब हो रखी है। चौधरी देवीलाल हरियाणा राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला के पिता हैं।

वह मौजूदा उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के पर दादा भी हैं। टाउन पार्क में मरहूम राजनेता को सम्मानित करते हुए उनकी मूर्ति की संरचना की गई थी। सालों से क्षेत्र के सबसे बड़े पार्क में यह मूर्ति विद्यमान है।

बात की जाए प्रतिमा की तो इस समय प्रतीत होता है जैसे किसी ने मूर्ति की देख रेख न करी हो। धूल मिट्टी से सराबोर प्रतिमा के आस पास लगी टाइलें भी टूट चुकी हैं। मूर्ति की हालत का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि जब यह मूर्ति स्थापित की गई थी इसका रंग गहरा काला था।

पर धूल, गंदगी और प्रदूषण के चलते अब मूर्ति का रंग फीका पड़ चुका है और प्रतिमा एक दम सफेद हो चुकी है। टाउन पार्क की देख रेख में प्रशासन को कड़े कदम उठाने की जरूरत है। नही तो आने वाले समय मे हालात बात से बदत्तर हो सकते हैं।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More