Pehchan Faridabad
Know Your City

आधार कार्ड बनना होगा अब और भी आसान,फरीदाबाद में बढ़ेंगे आधार केंद्र

कोरोना काल के चलते सभी चीजों को बंद कर दिया गया था। ताकि इस कोरोना जैसी महामारी से बचा जा सके। जिसके चलते देश की अर्थव्यवस्था डगमगाने लगी थी। अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने के लिए हर चीज को धीरे धीरे खोलना बहुत आवशयक हो गया था। इस कारन हर चीज को धीरे धीरे खोला जा रहा है। इसलिए धीरे धीरे सभी सरकारी ऑफिस भी खोले जा रहे है। सुरक्षा को ध्यान में रखते हर सरकारी कार्य को ऑनलाइन करने के प्रयास किया जा रहा है।ताकि कार्य का कार्य किया जा सके और कोरोना काल जैसी महामारी से बचा जा सके।

लेकिन कई ऐसे लोग है जीने ऑनलाइन कार्य करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसलिए अब धीरे धीरे कार्य को ऑफलाइन करने का काम शुरू हो चूका है। लॉकडाउन के बाद से ही आधार केंद्र बंद हो गए थे। इसलिए काफी लोग आधार कार्ड में गलतियां सुधरवाने के लिए परेशान थे। पिछले दिनों जिले में करीब 14 जगह आधार केंद्र शुरू कर दिए गए हैं, जिससे यहां काफी लोग पहुंच रहे हैं। केंद्रों पर आने वाले लोग शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं कर रहे हैं। जिला प्रशासन अब केंद्रों की संख्या बढ़ाएगा, ताकि कोरोना संक्रमण फैलने से रुक सके। अटल सेवा केंद्र में शुरू हो सकते हैं केंद्र।

जिले में एक बार फिर अटल सेवा केंद्र में आधार कार्ड बनाने व गलतियों में सुधार का काम शुरू हो सकता है। इस तरह के संकेत जिला सूचना अधिकारी द्वारा दिए गए हैं। कुछ माह पहले भी अटल सेवा केंद्रों में आधार से संबंधित काम होते थे लेकिन बीच में इसे बंद कर दिया गया था। एक माह में करीब आठ नए केंद्र खुलने के आसार हैं।

फिलहाल यहां चल रहे हैं आधार केंद्र

लघु सचिवालय, बल्लभगढ़ में बीडीपीओ कार्यालय सहित नगर निगम, तहसील कार्यालय, रेलवे रोड एनआइटी स्थित नगर निगम की नर्सरी, तिगांव व मोहना उपतहसील में, दयालपुर, जवां, फज्जुपुर खादर, फतेहपुर बिल्लौच, अरुआ, नचौली, लहंडोला, मुजेड़ी के ग्राम सचिवालय में आधार केंद्र चल रहे हैं। आधार केंद्रों पर टोकन सिस्टम शुरू किया गया है। आमजन को लाइन में शारीरिक दूरी के साथ खड़ा होने के लिए भी बार-बार कहा जाता है। साढ़े पांच माह केंद्र बंद रहे हैं, इसलिए लोग काफी आ रहे हैं। अब जल्द कुछ नए केंद्र शुरू कर देंगे, जिससे आमजन को भी राहत मिलेगी।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More