HomeEducationभूलकर भी किसी दूसरे को न बताए ये राज, नहीं तो हो...

भूलकर भी किसी दूसरे को न बताए ये राज, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान : चाणक्य

Published on

चाणक्य नीति के मुताबिक आप अपने राज़ रखे मन में दूसरों के सामने ना खोलें भेद, क्योंकि ऐसा करने से आपके सामने परेशानियों का पहाड़ टूट सकता है। कई बार होता ये है कि हम दूसरों पर खुद से भी ज़्यादा भरोसा कर बैठते हैं और इसी कारण हम अपने मन की सारी बात दूसरों को बता बैठते हैं।

ऐसा करने से कई बार ऐसा होता है कि हमारे भेद दूसरों सामने खुल जाते हैं और वही दूसरे लोग हमारी बातों को जानने के बाद हम पर ही हावी हो जाते हैं।

भूलकर भी किसी दूसरे को न बताए ये राज, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान : चाणक्य

कई बार होता ऐसा भी है कि हम अपने पेट में ही किसी बात को छुपा नहीं पाते हैं और जब तक हम अपनी बात को दूसरों को शेयर नहीं कर देते हैं तब तक हमारी बात हमारे पेट में नहीं पच पाती है, और हमारी यही आदत हम पर ही भारी पड़ जाती है और हमें हानि पहुंचाती है।

इसी के तहत हम आपके सामने कुछ ऐसी बातों को साझा करने जा रहे हैं जिन्हें हमेशा दूसरों से गोपनीय यानी छुपाना चाहिए। बातदें कि आपको हमेशा ऐसे लोगों से सावधान रहना चाहिए, जो आपके विषय में खोद-खोद कर पूछताछ करते हों।

भूलकर भी किसी दूसरे को न बताए ये राज, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान : चाणक्य

अगर कोई आपकी शक्ति, कमजोरी और बैकग्राउंड जानने की कोशिश करे, तो समझ जाएं कि वो आपका अहित चाहता है।

बहुत से ऐसे लोग होते हैं, जो अपने घर परिवार की बातें अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से शेयर करते रहते हैं, अगर आप भी ऐसा करते हैं तो ना करें क्योंकि आपको पछताना पड़ सकता है। घर परिवार में छोटी मोटी समस्याएं होती रहती हैं लेकिन अपने घर की बातों को बाहर नहीं ले जाना चाहिए।

कई लोग होते हैं, जो अपना घर दिखाने के चक्कर में घर के कोने-कोने से उनको अवगत करा देते हैं। जो आपके विश्वासपात्र हैं, उन्हें आप घर दिखा सकते हैं, लेकिन देखा जाता है कि कई लोग अपने घर में आए सभी को घर के रहस्य बताने लगते हैं।

भूलकर भी किसी दूसरे को न बताए ये राज, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान : चाणक्य

अगर आप भी ऐसा करते हैं तो सावधान हो जाएं। ज़्यादातर लोगों की ये जानने की इच्छा हमेशा रहती है कि आप कितना पैसा कमाते हैं। अगर आप इन्हें नहीं बताएंगे, तो ये लोग दूसरे तरीके से जानने की कोशिश करते हैं। हालांकि अपने धन की बातें हमेशा गोपनीय रखनी चाहिए।

कभी भी अपमान को सहन नहीं करना चाहिए, अगर आपका सामाजिक रूप से अपमान किया जाता है तो इसका विरोध जरूर करें। लेकिन इसे ज्यादा दिन तक अपने दिमाग में न बिठाएं, बल्कि ये कोशिश करें कि आपके साथ दोबारा कोई ऐसा न कर पाए।

भूलकर भी किसी दूसरे को न बताए ये राज, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान : चाणक्य

कहा जाता है कि अपनी कमजोरी के बारे में किसी को नहीं,बताना चाहिए, नहका नहीं तो लोग गलत फायदा उठाते हैं। अगर आप अपनी कमजोरी के बारे में किसी को बताते हैं तो हो सकता है कि वो आपके साथ गलत व्यवहार करने लगे या फिर आप पर मानसिक दबाव बनाए।

अपने मन की बात बताकर आप किसी बड़े संकट में पड़ सकते हैं। कई बार ऐसा होता है कि आप किसी बात को लेकर क्रोधित हो जाते हैं या आपके अंदर घृणा पैदा हो जाती है।

भूलकर भी किसी दूसरे को न बताए ये राज, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान : चाणक्य

अगर आपने किसी योग्य गुरू से दीक्षा या मंत्र लिया है, तो गुरू द्वारा दिए गए मंत्र का बखान न करें। गुरूमंत्र को हमेशा गोपनीय रखना चाहिए। यदि आप किसी प्रकार की बीमारी से ग्रसित हैं और दवा खाते हैं, तो इसे भी गोपनीय ही रखें।

ऐसा कहा जाता है कि दवा का असर तभी होता है, जब तक वो गोपनीय रहता है। कहा जाता है कि अपने आयु का प्रचार प्रसार नहीं करना चाहिए। कुछ लोग अकारण ही आयु पूछते रहते हैं तो ऐसे लोगों को कतई अपने आयु की जानकारी न दें।

भूलकर भी किसी दूसरे को न बताए ये राज, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान : चाणक्य

कई लोग होते हैं, जो पहले दान करते हैं और फिर पूरे समाज में उसका प्रचार प्रसार करते हैं। ऐसे लोगों को कभी भी उस दान का लाभ नहीं मिलता है।

तो ये ऐसी कुछ बाते हैं जिन्हें करने मात्र से आप संकट से लाखों दूर जा सकते हैं और किसी के सामने आपका प्रभाव बहुत ही उम्दा होता है। कहने को तो जो होता है वो होता अच्छे के लिए है, लेकिन कई बार हम खुद अपनी वजह से ही परेशानियों में पड़ जाते हैं। ये तमाम बातें हैं तो छोटी-छोटी लेकिन हैं बहुत काम की।

फ़ीचर्ड इमिज क्रेडिट

Latest articles

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

More like this

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...