Pehchan Faridabad
Know Your City

थाना पल्ला पुलिस द्वारा किया गया सराहनीय कार्य,ओपी सिंह ने किया सम्मानित

फरीदाबाद: अपने कार्यों एवं अच्छी पुलिस प्रणाली के लिए प्रसिद्ध पुलिस कमिश्नर श्री ओपी सिंह ने फैसला लिया है कि वह सराहनीय कार्य करने वाले पुलिसकर्मियों को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित करेंगे।

प्रोत्साहित करने से पुलिस कर्मियों का हौसला बढ़ेगा और पुलिसकर्मी अपनी कार्यप्रणाली में और अच्छा सुधार ला सकेंगे।

थाना पल्ला और थाना सेक्टर 17 पुलिस द्वारा मामले सुलझाने पर पुलिस कमिश्नर श्री ओपी सिंह उपरोक्त थाना के पुलिस कर्मियों को उनके द्वारा किए गए सराहनीय कार्य के लिए सम्मानित करेंगे।

थाना पल्ला पुलिस द्वारा किया गया सराहनीय कार्य।

थाना पल्ला व क्राइम ब्रांच 85 ने महिला के द्वारा अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पति की हत्या करने के मामले में हत्या की गुत्थी को जल्द से जल्द समय से सुलझाते हुए प्रेमी और मृतक की पत्नी को हत्या के जुर्म में गिरफ्तार करके जेल भेजा गया है।

उपरोक्त मुकदमें में घटना से पहले आरोपी ने अपनी कार स्विफ्ट को किसी अन्य व्यक्ति की पार्किंग में खड़ा कर दिया था जिस पर व्यक्ति ने आरोपी की स्विफ्ट कार का फोटो खींच लिया था। खींचे गए फोटो में आरोपी की कार नंबर भी आ गया था जिस पर पुलिस को इस कड़ी को सुलझाने में मदद मिली थी।

थाना सेक्टर 17 पुलिस द्वारा किए गए सराहनीय कार्य।

थाना सेक्टर 17 के पुलिस अधिकारियों ने हरी नेपाली हत्या मामले में दो आरोपियों को मुकदमा दर्ज होने के मात्र 12 घंटे में गिरफ्तार करके जेल भेज दिया तथा लापता हुई 3 नाबालिक लड़कियों को ढूंढकर उनके परिवार के हवाले कर दिया और साथ ही एक नौकर जो अपने मलिक के घर से 3 लाख 75 हजार रुपए चुराकर बिहार भाग गया था, उसको पकड़ने में सफलता हासिल की है।

पुलिस थाना सेक्टर 17 फरीदाबाद क्षेत्र का मामला है जिसमे एक 13 वर्षीय लड़की की लापता होने की शिकायत दर्ज करवाई गई थी जिसपर मुकदमा दर्ज करके कार्यवाही की गई और लड़की को उसके रिश्तेदार के यहाँ झाँसी, उत्तर प्रदेश से बरामद करके उसके परिवार के हवाले कर दिया गया।

इस मामले को सफल बनाने में निम्न पुलिसकर्मियों ने अपना सहयोग दिया:-
सहायक उप निरीक्षक महीपाल सिंह, मुख्य सिपाही सतीश कुमार, सिपाही सतीश कुमार, महीला सिपाही सरीता।

हरी नेपाली की हत्या का मामला, जिसमे आरोपी विनोद, लक्ष्मीनारायण और संजय ने हरी की लाठी डंडों से पीट पीटकर हत्या कर दी थी जिसपर इसमें थाना सेक्टर 17 के पुलिस अधिकारियों ने बड़ी सफलता हासिल करते हुए हत्या के दो आरोपी होडल निवासी विनोद और लक्ष्मीनारायण निवासी रैन बसैरा ओल्ड चौक फरीदाबाद को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है।

इस अभियोग को सफल बनाने में निम्न पुलिसकर्मियों ने अपना सहयोग दिया:-
निरीक्षक कर्मवीर सिंह, उप निरीक्षक राजकुमार, सहायक उप निरीक्षक महिपाल, मुख्य सिपाही अजीत सिंह, मुख्य सिपाही अजय कुमार, इएचसी विरेन्द्र, इएचसी रामगोपाल।

मामला पुलिस थाना सेक्टर 17 क्षेत्र फरीदाबाद का है जिसमे शिकायतकर्ता की 16 वर्षीय बहन बिना किसी को बताए घर से चले जाने की शिकायत दर्ज करवाई गई थी और जिसपर मुकदमा दर्ज करके कार्यवाही की गई। कार्यवाही के तहत आरोपी बोबी और उस लड़की को थाना कालन्दी कुन्ज दिल्ली से बरामद करके लड़की को उसके परिवार के हवाले कर दिया गया तथा आरोपी को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया।

इस अभियोग को सफल बनाने में निम्न पुलिसकर्मियों ने अपना सहयोग दिया:-
सहायक उप निरीक्षक महीपाल सिंह, मुख्य सिपाही अशोक, महीला सिपाही मोनीका

मामला पुलिस थाना सेक्टर 17 क्षेत्र फरीदाबाद का है जिसमें एक नौकर नें अपने मालिक के घर से 3 लाख 75 हजार रुपये चोरी कर लिए और अपने गाँव जोकि बिहार में है वहां भाग गया। शिकायतकर्ता की शिकायत पर मुकदमा दर्ज करके पुलिस ने कार्यवाही करते हुए आरोपी को उसके गाँव से धर दबोचा जिससे 1 लाख 80 हजार रुपये बरामद किए गए। आरोपी को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है।

इस अभियोग को सफल बनाने में निम्न पुलिसकर्मियों ने अपना सहयोग दिया:-
सहायक उप निरीक्षक महीपाल सिंह, मुख्य सिपाही अशोक,सिपाही ओमप्रकाश

मामला पुलिस थाना सेक्टर 17 क्षेत्र फरीदाबाद का है जिसमें आरोपी सौरव द्वारा शिकायतकर्ता की 15 वर्षीय लड़की को शादी का लालच देकर भगाने की शिकायत दर्ज करवाई गई थी और जिसपर मुकदमा दर्ज करके कार्यवाही की गई। कार्यवाही के तहत लड़की को उसके नानी के घर जोकि पश्चिम बंगाल में है से बरामद करके उसके परिवार के हवाले कर दिया गया।

इस अभियोग को सफल बनाने में निम्न पुलिसकर्मियों ने अपना सहयोग दिया:-
सहायक उप निरीक्षक महीपाल सिंह, मुख्य सिपाही अशोक,महीला सिपाही मनीता

एक और मामला थाना सेक्टर 17 क्षेत्र फरीदाबाद का है जिसमे शिकायतकर्ता की 16 वर्षीय लड़की के लापता हो जाने की शिकायत दर्ज करवाई गई थी और जिसपर मुकदमा दर्ज करके कार्यवाही की गई। कार्यवाही के तहत लड़की को दिल्ली के एक गुरूद्वारे से बरामद करके उसके परिवार के हवाले कर दिया गया।

इस अभियोग को सफल बनाने में निम्न पुलिसकर्मियों ने अपना सहयोग दिया:-
सहायक उप निरीक्षक महीपाल सिंह, मुख्य सिपाही अशोक,सिपाही हितेश,महीला सिपाही शर्मीला

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More