HomeSportsकैश अवार्ड देने में बड़ी गड़बड़ी का मामला आया सामने। हरियाणा में...

कैश अवार्ड देने में बड़ी गड़बड़ी का मामला आया सामने। हरियाणा में खिलाड़ियों के खाते में डाल दी तिगुनी करोड़ों की राशि

Published on

हरियाणा में खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग ने वर्ष 2017-18 में कैश अवार्ड के लिए दावा करने वाले खिलाडिय़ों को निर्धारित से तीन गुना अधिक राशि दे दी। अड़ बड़ा सवाल यह उठता है कि यह गड़बड़झाला है या फिर अधिकारियों की लापरवाही। वर्ष 2017-18 कैश अवार्ड का दावा करने वाले छह खिलाड़ियोंं के खातों में पात्रता से 3 गुना अधिक राशि डाल दी गई।

हैरानी की कि विभाग को भी एक साल बाद संदेह हुआ तो पता चला कि उनकी राशि 1 करोड़ 46 लाख 25 हजार बनती थी, लेकिन उनके खाते में 4 करोड़ 36 लाख 87 हजार 500 रुपये का भुगतान किया गया है।

कैश अवार्ड देने में बड़ी गड़बड़ी का मामला आया सामने। हरियाणा में खिलाड़ियों के खाते में डाल दी तिगुनी करोड़ों की राशि

इन पुरस्कारों के वितरण के बाद अब कमेटी सदस्यों पर कार्रवाई होनी लाज़मी है। साथ ही, सभी सदस्यों को करीब 2 करोड़ 98 लाख 12 हजार 500 रुपये की रिकवरी के लिए नोटिस जारी किया गया है।

पुरस्कारों के वितरण में हुई इतनी बड़ी गड़बड़ी आखिर कैसे हुई पर भी स्पष्टीकरण की मांग की गयी है। बता दें कि विभाग के अधिकारियों ने सवाल उठाया है कि आइएसएसएफ जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों को पात्रता से अधिक नकद पुरस्कार देने के बारे में कमेटी सदस्यों द्वारा सिफारिश की गई।

कैश अवार्ड देने में बड़ी गड़बड़ी का मामला आया सामने। हरियाणा में खिलाड़ियों के खाते में डाल दी तिगुनी करोड़ों की राशि

जिसके तहत, गोल्ड विजेता को 30 लाख रुपये का भुगतान करना था पर उसके खाते में 1,12,50,000 डाल दिए गए। इसी तरह, ब्रांज जीतने वाले खिलाड़ी को 1

5 लाख रुपये का भुगतान किया जाना चाहिए था, पर गड़बड़ी की वजह से उनके खाते में 37,50,000 रुपये ट्रांसफर कर दिए गए।

कैश अवार्ड देने में बड़ी गड़बड़ी का मामला आया सामने। हरियाणा में खिलाड़ियों के खाते में डाल दी तिगुनी करोड़ों की राशि

खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग के निदेशक डॉ. एसएस फुलिया ने बताया कि इस गड़बड़ के सामने आने के बाद जिला स्तर पर दस्तावेजों की जांच के बाद अब अभी दस्तावेज़ मुख्यालय में भेजे जायेंगे। साथ ही कमेटी सदस्यों से भी पूछताछ होगी जिसके बाद ही पता चल पायेगा कि किस स्तर पर लापरवाही हुई है। फिलहाल इस पर अभी कुछ कहना ठीक नहीं होगा।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...