Pehchan Faridabad
Know Your City

राज्य उच्च शिक्षा परिषद द्वारा छेड़ी जाएगी आत्मनिर्भर हरियाणा बनाने की मुहीम

हरियाणा राज्य उच्च शिक्षा परिषद द्वारा आगामी 25 सितम्बर को आत्मनिर्भर हरियाणा के विषय पर चर्चा करने और योजना बनाने के लिए एक दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन किया जाएगा। विमर्श के अंतिम सत्र में हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के सम्मुख विमर्श में उभरे मुख्य बिंदु एवं कार्ययोजना का प्रारूप प्रस्तुत किया जाएगा और मुख्यमंत्री के उद्बोधन के साथ संगोष्ठी का समापन होगा।

इस संबंध में जानकारी देते हुए परिषद के अध्यक्ष प्रो० बृज किशोर कुठियाला ने बताया कि परिषद इस संगोष्ठी को स्वावलंबन से आत्मनिर्भर न्यास के संयुक्त तत्वावधान में ऑनलाइन प्लेटफार्म के माध्यम से कर रही है।

उन्होंने बताया कि तीन सत्रों के इस कार्यक्रम में हरियाणा के कुलपतियों व प्राचार्यों के अतिरिक्त देशभर से शिक्षाविद, विद्वान, उद्योग व व्यापार के प्रतिनिधि शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि संगोष्ठी में ऐसे 9 व्यक्तियों व संस्थाओं को सम्मानित किया जाएगा जिन्होंने नवाचारी प्रयोग करके उल्लेखनीय अर्थअर्जन किया है या बड़ी संख्या में रोजग़ार उत्पन्न किया है।

वर्तमान में चीन के साथ बदलते हुए सम्बन्धों और वैश्विक परिस्थितियों को देखते हुए भारतीय समाज को स्वावलंबन के माध्यम से आत्मनिर्भरता की ओर ले जाने के लिए बड़े अभियान की आवश्यकता है। इस महत्वपूर्ण कार्य की योजना बनाने में शिक्षाविदों की महत्वपूर्ण भूमिका है।

आत्मनिर्भर हरियाणा के लिए दिशा व दशा तय करने के लिए परिषद का यह पहला प्रयास है और उच्च शिक्षा परिषद लगातार आत्मनिर्भरता के लिए योजना क्रियान्वयन व मूल्यांकन से सम्बन्धित विमर्श करती रहेगी। इधर, परिषद के प्रवक्ता ने बताया कि पहले सत्र का विषय ‘आत्मनिर्भर भारत हरियाणा के संदर्भ’ में रहेगा जिसमें हरियाणा के सुप्रसिद्ध उद्योगपति श्री पवन जिंदल अध्यक्षता करेंगे और गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय, ग्रेटर नोएडा के कुलपति प्रारम्भिक विषय रखेंगे।

पहले सत्र में मुख्य प्रस्तुति देश के सुप्रसिद्ध चिंतक, लेखक व सामाजिक कार्यकर्ता डाक मनमोहन सिंह करेंगे। दूसरे सत्र में आत्मनिर्भर भारत की समग्र दृष्टि के संदर्भ में अंतराष्ट्रीय प्रसिद्धि प्राप्त विद्वान दत्तात्रेय होसबले मुख्यवक्ता रहेंगे। अन्तिम सत्र की चर्चा हरियाणा प्रांत केंद्रित रहेगी जिसमें हरियाणा में कृषि, उद्योग, व्यापार व शिक्षा की हरियाणा को आत्मनिर्भर बनाने की भूमिका पर चर्चा होगी।

उन्होंने बताया कि कृषि से संबंधित प्रस्तुति कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल, उद्योग से संबंधित प्रस्तुति उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री अपूर्व कुमार सिंह करेंगे। आत्मनिर्भर हरियाणा में शिक्षा किस प्रकार से योगदान कर सकती है इसकी प्रस्तुति उच्च शिक्षा महानिदेशक श्री अजित बालाजी जोशी करेंगे।

इस सत्र में भी मुख्यमंत्री द्वारा तीन उद्यमियों को सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम के समापन में स्वदेशी व आत्मनिर्भर के विषय विशेषज्ञ श्री कश्मीरी लाल अपने विचार रखेंगे। परिषद के प्रवक्ता ने बताया कि इस संगोष्ठी में विमर्श के आधार पर निकाले निष्कर्षों को मूर्तरूप देने के लिए शीघ्र ही बैठकों की श्रृंखला चलाई जाएगी जिनमें हरियाणा के विशेषज्ञों का योगदान रहेगा और आवश्यकता पडऩे पर राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय विद्वानों को भी विमर्श में जोड़ा जाएगा।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More