Pehchan Faridabad
Know Your City

यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ टेक्सास और जे.सी. बोस विश्वविद्यालय के बीच हुआ अकादमिक समझौता

जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने वैश्विक परिवेश में अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी एवं शोध के क्षेत्र में रोजगार के लिए विद्यार्थियों की बढ़ाती मांग को देखते हुए यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ टेक्सास, अमेरिका के साथ अकादमिक क्षेत्र में मिलकर काम करने के लिए समझौता किया है, जिसमें रणनीतिक साझेदारी, अनुसंधान सहयोग, शिक्षकों एवं विद्यार्थियों के लिए एक्चेंज प्रोग्राम के अलावा ड्यूल डिग्री पाठ्यक्रम शुरू करना शामिल हैं।

जे.सी. बोस विश्वविद्यलय जल्द ही यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ टेक्सास के साथ ड्यूल डिग्री पाठ्यक्रम शुरू करने तथा विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को अमेरिका के टेक्सास स्थिति कैंपस में अध्ययन करने की संभावनाओं पर काम करेगा।

Sgt. Steven Davidson, freshmen, University of North Texas on tuesday, Oct. 8, 2012 in Denton. Davidson was named Military Times 2012 Soldier of the Year. (URCM Photo/Gary Payne)

इस समझौता पर यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ टेक्सास की प्रोवोस्ट तथा अकादमिक मामलों की वाइस प्रेजीडेंट डाॅ. जेनिफर इवांस-काउली ने हस्ताक्षर किए गए हैं और दोनों विश्वविद्यालयों के बीच अकादमिक क्षेत्र में परस्पर सहयोग बढ़ाने की इच्छा व्यक्त की है। जे.सी. बोस विश्वविद्यालय की ओर से कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने समझौते पर हस्ताक्षर किये।

इस अकादमिक समझौते पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ टेक्सास अमेरिका में सरकारी क्षेत्र के सबसे बड़ा अनुसंधान विश्वविद्यालयों में से एक है। यह साझेदारी हमारे शिक्षकों तथा विद्यार्थियों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अध्ययन का अनुभव प्राप्त करने का अवसर प्रदान करेगी।

शुरूआती चरण में विश्वविद्यालय क्लाउड कंप्यूटिंग, आईओटी, बिग डेटा एनालिटिक्स, ब्लॉक चेन टेक्नोलॉजी, रोबोटिक्स और ऑटोमेशन, साइबर सुरक्षा, मशीन लर्निंग, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इंटेलिजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टम और लॉजिस्टिक्स मैनेजमेंट सिस्टम जैसे क्षेत्रों में अनुसंधान के लिए सहयोग को आगे बढ़ाने का इच्छुक है।

कुलपति ने समझौते को सफल बनाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय मामलों की निदेशक डॉ. शिल्पा सेठी और उनकी टीम के निरंतर प्रयासों की सराहना की। यह साझेदारी इसी वर्ष जनवरी में जे.सी. बोस विश्वविद्यालय द्वारा फ्यूजन ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (आईएसएफटी 2020) पर आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के दौरान दोनों विश्वविद्यालयों के अधिकारियों के बीच हुए विचार-विमर्श का परिणाम है।

कुलपति ने दोनों विश्वविद्यालयों के बीच सहयोग को आगे बढ़ाने में कुलसचिव डॉ. एस.के. गर्ग और दिल्ली तकनीकी विश्वविद्यालय के प्रो. नवीन कुमार के योगदान की भी सराहना की। उल्लेखनीय है कियूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ टेक्सास का एक प्रतिनिधिमंडल जिसमें प्रतिनिधिमंडल ग्रेजुएट एजुकेशन के वाइस प्रोवोस्ट और टूलूज ग्रेजुएट स्कूल के डीन डॉ. विक्टर प्राइबटोक और हेल्थ सर्विसेज एडमिनिस्ट्रेशन में एमएस कोऑर्डिनेटर एवं फैकल्टी डॉ. गेल प्राइबटोक शामिल थे, ने इस वर्ष जनवरी में विश्वविद्यालय का दौरा भी किया था और दोनों विश्वविद्यालयों के बीच संभावित शैक्षणिक सहयोग पर चर्चा की थी।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More