HomeLife Styleयदि हिमाचल प्रदेश जाने का बना रहे है मन, दो बाते जान...

यदि हिमाचल प्रदेश जाने का बना रहे है मन, दो बाते जान ले वरना सफर होगा मुश्किल भरा

Published on

जहां पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है। वहीं धीरे- धीरे सब अनलॉक हो रहा है। धार्मिक स्थल, पर्यटक स्थल ट्रेन, बस सब खुल रहे है। लंबे समय से देश में लगे लॉकडाउन के बाद से लोग घरों में रहकर उब गए है। कई लोग अब बाहर घूमने का प्लान बना रहे है। कुछ लोग तो इस महामारी में ही घूमने निकल पड़े है लेकिन अभी भी ऐसे कई पर्यटक स्थल है जिसे पूरी तरह से नहीं खोला गया है। जिसको को लेकर पर्यटकों में मायूसी छाई हुई है।

चलिए आपको बता दे हिमाचल प्रदेश के बारे में जहां हमेशा पर्यटकों की भीड़ उमड़ी रहती है लेकिन आप अगर इस महामारी में हिमाचल घूमने का प्लान बना रहे है तो हिमाचल के बारे में पूरा जान लीजिए ताकि आपको दिक्कत न हों। जी हां हिमाचल प्रदेश में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के चलते जहां सरकार ने बॉर्डर खोल दिए हैं। सरकार ने टूरिस्ट एक्टविटी को बढ़ावा देने के लिए अब पुरानी शर्तें भी खत्म कर दी है।

यदि हिमाचल प्रदेश जाने का बना रहे है मन, दो बाते जान ले वरना सफर होगा मुश्किल भरा

ऐसे में अब टूरिस्ट बिना रोक टोक के सूबे में आ जा सकते हैं, लेकिन स्पीति वैली में टूरिस्ट एक्टिविटी पर रोक रहेगी। स्थानीय स्पीति टूरिज्म सोसाइटी ने यह फैसला लिया है। हालांकि, यहां दो जगहों को अभी बंद ही रखा गया है। आपको बताते हैं कि फिलहाल हिमाचल में दो जगहों को बंद रखने का फैसला किया गया है और ये रोक कब तक जारी रहेगी चलिए जानते है।

स्पीति घाटी ऐसी जगह है जहां हिमाचल में आने वाले लोग सबसे ज्यादा घूमने जाते हैं। स्पीति टूरिज्म सोसाइटी ने निर्णय लिया है कि स्पीति घाटी को इस पूरे साल बंद रखा जाएगा, खासतौर से जीप सफारी, पैकेज टूर, ट्रेकिंग और कैंपिंग जैसे किसी भी तरह के टूरिज्म एक्टिविटी पर 31 अक्टूबर 2020 तक रोक जारी रहेगी। दरअसल स्पीति में सीमित मेडिकल सुविधाएं, अंडरडेवलप इंफ्रस्ट्रक्चर और ठंड के सीजन को देखते हुए इसे कोरोनाकाल में पर्यटकों के लिए बंद किया गया है। क्योंकि जैसे-जैसे सर्दी बढ़ेगी, हालात मुश्किल होंगे।

वहीं स्पीति घाटी के अलावा किन्नौर को भी 1 नवंबर तक पूरी तरह बंद रखने का फैसला किया गया है। यहां एक नवंबर तक सभी टूरिज्म एक्टिविटी पर रोक रहेगी। ये घोषणा किन्नौर होटल एसोसिएशन द्वारा की गई है। एसोसिएशन द्वारा एक पत्र जारी कर इसकी जानकारी दी गई है। तो अगर आप छूट्टीयां मनाने हिमाचल जा रहे है तो इन बातों का खास ध्यान रखें।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...