Pehchan Faridabad
Know Your City

अनलॉक 5 की गाइडलाइन्स जारी होने से सूरजकुंड मेले के आयोजन को मिला बल

अनलॉक 5 के बाद मिली रियायतों ने सूरजकुंड मेले के आयोजन को बल दे दिया है। जहां महामारी के चलते मेले के आयोजन को लेकर असमंजस बना हुआ था। वहीं अनलॉक की प्रक्रिया के साथ अब अटकलें लगाईं जा रही हैं कि इस बार भी मेले का आयोजन पूरे धूम धाम से किया जाएगा।

अनलॉक 5 में अनिवार्य शर्तों के साथ व्यापार मेला, सिनेमा हॉल और स्विमिंग पूल को चालु करने की छूट के फैसले से सूरजकुंड अंतराष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले के आयोजन की संभावनाओं को बल मिल रहा है। मेले का थीम क्या होगा अभी तक इस विषय पर कोई बात नहीं की गई है।

केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय और प्रदेश पर्यटन मंत्रालय कोरोना संकट को देखते हुए अभी इस पूरे मामले में विचार विमर्श कर रही है। अमूमन मेले के आयोजन की तैयारियां अगस्त में शुरू हो जाय करती थी। परन्तु महामारी के दौर में मेले के आयोजन पर संशय की तलवार तंगी हुई थी।

अनलॉक की प्रक्रिया के साथ ही उम्मीद की जाने लगे कि मेले का आयोजन किया जाएगा। ऐसे में अनलॉक 5 में मिली छूट ने मेले के आयोजन को और प्रबल कर दिया है। आपको बता दें कि मेले में हर वर्ष तकरीबन 2500 से ज्यादा कलाकार आते हैं।

बीते वर्ष में मेले में 12 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचे थे। फिलहाल मेला प्राधिकरण कलाकारों और पर्यटकों की सुरक्षा को लेकर फिक्रमंद है। मेले में जो भी कलाकार और हस्तशिल्पी आते हैं उनको ठहराने का इंतजाम मेले में ही किया जाता है।

फिलहाल अधिकारियों ने मेले के आयोजन को लेकर कोई आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं की है। अधिकारियों का कहना है कि इस पूरे मामले में बैठक की जाएगी और आधिकारिक तौर पर इस विषय में पुष्टि की जाएगी।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More