Pehchan Faridabad
Know Your City

नदी से निकल चिकन बिरयानी खाने दुकान पहुंचा मगरमच्छ चौकी के नीचे कर रहा था ‘ऑर्डर’ का इंतजार

अगर इसी तरह से जल जंगल खत्म होगा तो मगरमच्छ क्या सभी जंगली जानवर लोगों के रिहाइशी इलाकों में पहुंचेंगे और लोगों को क्षति पहुंचाएंगे। देखिये सबसे बड़ी और सच्ची बात यहां अभी जाननी समझनी बेहद जरूरी है क्योंकि जितनी जल्दी हम इस बात को समझ जाएंगे हम सभी के लिए मानव जाति के लिए उतना ही सही और सरल होगा अपनी जीवन को आगे बढ़ाना।

क्योंकि जिस तरीके से इस जमीन और इंसान का जीना महत्वपूर्ण है ठीक उसी तरह से इस धरती पर जिसका भी जन्म हुआ है चाहे वो जीव हो, जंतु हो, पंक्षी हो, पशु हो, जानवर हो सभी को उनको उनका जीवन जीने का अधिकार है और भरपूरी से जीवन जीने का तरीका उन्हें अपने हिसाब से इजात करके जीना है।

हम इंसान इतने स्वार्थी होते है कि अपने स्वार्थ के चलते जंगलों में पहुंचते है वहां पर गंदगी फैलाते है। जंगलों में पहुंचने के बाद वहां पर अपने मुताबिक गंदगी फैलाकर अपनी जरुरतों को पूरा करते है। सबसे बड़ी बात जंगलों को काटने का काम इन दिनों खूब किया जा रहा है। इसी के साथ मॉडल सिटी, मॉडल शहर बनाने की एवज में जंगलों को काटा जाता हैं।

अब एक बात हम बिल्कुल भूल जाते है कि इन जंगलों में जानवर, जंगली जानवर, जीव- जन्तु रहा करते है अगर उन जंगलों को काट दिया जाएगा तो जरा सोचिए उसमें रहने वाले जंगली जानवर जाएंगे कहां।

अगर इसी तरीके से पानी का स्त्रोत जो है वो कम हो जाएगा , पानी खत्म हो जाएगा तो जीव- जन्तु पानी पियेंगे कहां। तो जल जंगल को काटने की जगह हमे उन्हें संरक्षित रखने की जरूरत है।

क्योंकि अगर वो संरक्षित होगा तभी हम और आप और तमाम पर्यावरण में रहने वाले जीव- जन्तु सही रहेंगे और अच्छे से अपने- अपने जीवन को सही जगह पर बिताते हुए नजर आएंगे। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर इतना ज्ञान क्यों दिया गया तो आपको बता ये ज्ञान इसीलिए दिया गया क्योंकि ये जो खबर आप पढ़ने जा रहे है वो यूपी के लखीमपुर खीरी जिले से सामने आया।

जहां एक मगरमच्छ पानी की तलाश में जंगल से निकलता हुआ पता नहीं कैसे एक बिरियानी के दुकान में जा घुसा। वहीं चिकन बिरयानी शॉप में मगरमच्छ के निकलने से हड़कम्प मच गया। जानकारी के मुताबिक, मामला 24 सितंबर का है। लोग दुकान पर बिरयानी खा रहे थे। तभी उन्हें दुकान में लोगों के बैठने के लिए लगाई गई चौकी के नीचे से कुछ आवाजें सुनाई दी।

जब उन्होंने नीचे झांका तो वहाँ एक बड़ा सा मगरमच्छ बैठा था। गनीमत रही कि मगरमच्छ ने किसी पर अटैक नहीं किया था। जब मगरमच्छ को वहां से निकाला गया तब दुकान में कई लोग मौजूद थे। मगरमच्छ को देखते ही लोगों ने वन विभाग को इसकी जानकारी दी, जिसके बाद पहुंचे ऑफिसर्स ने उसे वापस नदी में पहुंचा दिया। बता दे कि मगरमच्छ निकलने की ये घटना दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। जहां से ये वायरल हो गई।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More