Pehchan Faridabad
Know Your City

दिल्ली भारत की राजधानी नहीं बल्कि पाकिस्तान की राजधानी है- छात्र

दिल्ली भारत की राजधानी नहीं बल्कि पाकिस्तान की राजधानी है ..छात्र, आज की स्थिति ऐसी है कि उन स्थितियों के हिसाब से जो छात्राएं है सभी अपने दिमाग की उपज को लोगों के सामने पेश करते है और इसी को लेकर एक कहानी आपको बताने जा रहे हैं कि आखिर हुआ क्या जब एक टीचर छात्रों से क्लास में सवाल जवाब कर रहा था तब एक छात्रा ने टीचर को जवाब दिया कि भारत की राजधानी दिल्ली नहीं बल्कि पाकिस्तान की राजधानी दिल्ली है।

अब टीचर इस बात को सुनकर चौक गया फिर अचंभित हो गया वहीं टीचर गुस्से में आकर बौखला कर बोला कि ऐसा कैसे बोल सकते हो और कहने लगे कि कौन से किताब में ये बातें पढ़ी है या माता पिता ने सिखाया है, आप बताओ आप क्यों बोल रहे हो की पाकिस्तान की राजधानी दिल्ली है, भारत की राजधानी दिल्ली नही है।

तो इतना सुनने के बाद छात्रा भी बौखला गयी और गुस्से में आकर पूरा तर्क देते हुए एक- एक बात का बखान टीचर के सामने कर दिया। अब वो बखान क्या है आइए आपको बताते है। उसने बताया कि “शाहजहां” रोड़ से निकलकर, “अकबर” रोड़ पर पहुँच जायेंगे, आगे जाकर, “बाबर” रोड़ पर मुड़ जायेंगे । फिर “हुमायूं” रोड़ पर सीधे चले जाइयेगा वहां एक गोल चक्कर मिलेगा, जहाँ से आप, “तुगलक” लेन में घुस जायेंगे, “लोधी” रोड़ पर आगे बढिये “सफदरजंग” रोड आएगा इसके बाद, “तुगलकाबाद” एवं “जामिया नगर” होते हुए, “कुतुबमीनार” तक जाइए और जब इस “सूफियाने माहौल’ में, “दम घुटने लगे” तो “सराय कालेखाँ” होते हुए…”निजामुद्दीन” रेलवे स्टेशन से,अपने शहर की, “रेलगाड़ी” में बैठिए और घर वापस आ जाइये।

इस तरीके से छात्रा ने टीचर से कहा कि अब बताइए क्‍या पाकिस्‍तान की राजधानी दिल्‍ली है या नहीं? वहीं छात्रा ने टीचर की बोलती बंद अपने तर्क के माध्यम से कर दी और इन तर्कों के माध्यम से एक बार को टीचर भी अपने सिर पर हाथ पकड़कर बैठ गया की वास्तव में जो कुछ हो रहा है, जो कुछ भी सुन रहे है वो है तो सच्चाई, है तो धरातल पर। लेकिन इस वास्विकता से इनकार भी नहीं किया जा सकता।

तो आज के जो छात्र- छात्राएं है वो अपनी बुद्धि का इस्तेमाल ऐसे करते है कि बड़ो- बड़ो की बोलती बंद कर देते है जिस तरीके से छात्रा ने इस अध्यापक की बोलती बंद की है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More