Pehchan Faridabad
Know Your City

दुर्गा पूजा के लिए सुसज्जित है फरीदाबाद, तैयारियों ने पकड़ रखा है ज़ोर

विश्व में फैली महामारी ने सभी त्योहारों के रंगों को फीका कर दिया है। इस स्तिथि में कई त्योहार ऐसे भी हैं जिन्हे मनाने पर असमंजस की तलवार लटकी पड़ी है। अक्टूबर माह में नवरात्र का शुभारम्भ हो जाएगा ऐसे में कन्या पूजन से लेकर शहर में लगने वाले भव्य पांडालों के आयोजन पर प्रश्न चिन्न लगा हुआ है।

आपको बता दें की हर साल नवरात्र में फरीदाबाद में दुर्गा पूजा का आयोजन किया जाता है। दुर्गा पूजा में रंगारंग कार्यक्रम के साथ ही भव्य भोज का वितरण भी किया जाता है। महामारी के इस दौर में दुर्गा पूजा के आयोजन पर भी संशय जताया जा रहा था।

पर भक्तों की आस्था को ध्यान में रखते हुए शहर में दुर्गा पूजा का आयोजन करवाया जा रहा है। खास बात यह है कि इस बार पूजा अलग अंदाज़ के साथ की जाएगी। फरीदाबाद के कालीबाड़ी मंदिर में भव्य दुर्गा पूजन समारोह मनाया जाएगा। नवरात्र के पांचवे दिन से पूजा प्रारम्भ होगी और दसवें दिन पर माता की मूर्ती को विसर्जित कर दिया जाएगा।

इस बार पूजन सामाजिक दूरी का पालन करते हुए किया जाएगा। जहां हर बार पांडाल मंदिर परिसर की छत के नीचे लगाया जाता था वहीं बिमारी का ध्यान रखते हुए इस बार पूजन मंदिर के लॉन में होगा।

यह ओपन एयर पंडाल होगा जहां पर सामजिक दूरी का पालन करते हुए अभिभावक माता की आराधना कर सकेंगे। हर बार जहां पूजा में शामिल होने के लिए किसी पास की जरूरत नहीं पड़ती थी, वहीं इस बार बिमारी का ध्यान रखते हुए ई पास द्वारा भक्तों को पांडाल में प्रवेश करवाया जाएगा।

ई पास के माध्यम से मंदिर में आने वाले सभी भक्तों की जानकारी एकत्रित की जाएगी और उसे रिकॉर्ड के रूप में संभाल कर रखा जाएगा। यह प्रक्रिया पूजा आयोजन के पाँचों दिनों पर दौराई जाएंगी।

मंदिर प्रभारी का कहना है कि हर बार जो कलाकार खास कोलकाता से आया करते थे वह इस बार पूजा में शिरकत नहीं कर पाएंगे। ढाक ढोल बजाने वाले ढाकी भी इस बार पूजा में शरीक नहीं हो पाएंगे। ऐसे में कहीं न कहीं पूजा का रंग फीका पड़ सकता है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More