HomeIndiaपराली जलाना मतलब पंजाब और हरियाणा में वायु प्रदूषण को खतरनाक स्तर...

पराली जलाना मतलब पंजाब और हरियाणा में वायु प्रदूषण को खतरनाक स्तर पर पहुँचाना,जानें कैसे

Published on

उत्तर भारत में पहले ही वायु प्रदूषण खतरे के स्तर पर रहता है। और तो और पराली जलाने की वजह से दिल्ली में हर साल वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच जाता है। दिवाली-दशहरा जैसे त्योहारों के समय में वायु प्रदूषण को नियंत्रण में रखने का ख़ास ख्याल रखना चाहिए। गाड़ियों का प्रदूषण, फैक्ट्रियों का धुआं और भी ऐसे अनगिनत कारण हैं जो वायु प्रदूषण बढ़ाते हैं। और फिर इन सबके बीच, पराली जलना वायु प्रदूषण को खतरे के स्तर पर पहुंचाता है।

पराली जलाना मतलब पंजाब और हरियाणा में वायु प्रदूषण को खतरनाक स्तर पर पहुँचाना,जानें कैसे

बीते दिन केवल पंजाब और हरियाणा में ही पराली जलाने के 700 से अधिक मामले सामने आये हैं। जिनसे मौसम विभाग और प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड की चिंता बढ़ा दी है।

पराली जलाना मतलब पंजाब और हरियाणा में वायु प्रदूषण को खतरनाक स्तर पर पहुँचाना,जानें कैसे

ये बहुत ही गंभीर मुद्दा है जिसका हल निकालना अत्यंत आवश्यक हो गया है। दरअसल, उत्तर भारत में पराली जलाने के कारण पैदा होने वाले वायु प्रदूषण से श्वसन संक्रमण का खतरा का काफी अधिक बढ़ रहा है। इतना ही नहीं, साथ ही इससे सालाना 30 अरब डॉलर का आर्थिक नुकसान भी हो रहा है। पराली जलाने से होने वाले वायु प्रदूषण के कारण एक्यूट रेसपिरेटरी इन्फेक्शन (एआरआई) का खतरा होता है। जिसमें पांच साल से कम उम्र के बच्चों में इस संक्रमण का खतरा सर्वाधिक होता है।

पराली जलाना मतलब पंजाब और हरियाणा में वायु प्रदूषण को खतरनाक स्तर पर पहुँचाना,जानें कैसे

अमेरिका के इंटरनेशनल फूड पॉलिसी रिसर्च इंस्टिट्यूट और सहयोगी संस्थानों ने अपनी रिसर्च में इस बात की पुष्टि की है कि जिन सभी इलाकों में पराली जलाई जाती है, वहां के स्थानिय निवासियों में सांस लेने की तकलीफ से लेकर एक्यूट रेसपिरेटरी इन्फेक्शन होने की संभावना होती है जो उनके स्वास्थ्य के लिए एक बुरा संकेत है।

पराली जलाना मतलब पंजाब और हरियाणा में वायु प्रदूषण को खतरनाक स्तर पर पहुँचाना,जानें कैसे

आईएफपीआरआई के रिसर्च फेलो और इस अध्ययन के सह लेखक सैमुअल स्कॉट ने कहा ‘वायु प्रदूषण पूरे विश्व के सभी देशों के लिए बड़ी समस्या के रूप में सामने आ रहा है। वायु की खराब गुणवत्ता दुनियाभर के लोगों के स्वास्थ्य को नुक्सान पहुंचाएगी।’

Latest articles

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

More like this

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...