Pehchan Faridabad
Know Your City

200 करोड़ रूपये की लागत से 22 एकड़ में बनाये जा रहे शहीदी स्मारक

अम्बाला-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग के नजदीक 200 करोड़ रूपये की लागत से 22 एकड़ में बनाये जा रहे शहीदी स्मारक के निर्माण कार्य को लेकर सूचना, जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक पी.सी. मीणा व उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने आज परियोजना स्थल पर …
प्रिंट
चंडीगढ़, 10 अक्तूबर- अम्बाला-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग के नजदीक 200 करोड़ रूपये की लागत से 22 एकड़ में बनाये जा रहे शहीदी स्मारक के निर्माण कार्य को लेकर सूचना, जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक पी.सी. मीणा व उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने आज परियोजना स्थल पर लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर विस्तार से जानकारी ली।
उन्होंने यहां पर किए जाने वाले विभिन्न आर्ट वर्क व डिजिटल वर्क को लेकर लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों व आर्किटैक्चर को बेहतर समन्वय के साथ यहां पर क्या-क्या कार्य किए जाने हैं , इसके लिए रूपरेखा तैयार करते हुए समय पर करने के निर्देश दिए ताकि सम्बन्धित परियोजना को निर्धारित समय अवधि में पूरा किया जा सके।
इस मौके पर आर्किटैक्चर रेणू खन्ना ने एलईडी पर वीडियो के माध्यम से परियोजना संबधी निर्माण कार्य की विस्तार से जानकारी दी और आर्ट वर्क के तहत यहां पर क्या-क्या किया जा सकता है उस बारे भी जानकारी दी। महानिदेशक पी.सी. मीणा ने वीडियो में दिखाए गये तमाम क्लीप को देखते हुए कहा कि 1857 की क्रांति से सम्बंधित विभिन्न घटनाओं को ऑडियो-विजुअल, शॉर्ट फि़ल्मस, डिजिटल वॉक थ्रू, 5-ष्ठ ऑडिटॉरीयम के साथ-साथ जो अन्य पेंटिग दर्शाई जानी है उसकी रूपरेखा तैयार करना सुनिश्चित करें और समयबद्ध तरीक़े से सभी कार्यों को सम्पन्न करें। इस मौके महानिदेशक ने परियोजना के तहत यहां पर किए जा रहे सभी कार्यों का मौके पर जायजा भी लिया। लोक निर्माण विभाग के चीफ इंजीनियर चंद्रमोहन ने महानिदेशक को अवगत करवाते हुए बताया कि यहां पर 5 भवन तैयार किए जा रहे हैं जिसके तहत इंटरप्रीटेशन सैंटर, ओपन ऐयर थियेटर, ऑडिटोरियम, म्यूजियम व मैमोरियल टावर शामिल हैं। उन्होंने बताया कि आईसी, ओटी व ऑडिटोरियम का अधिकतर कार्य पूरा किया जा चुका है जबकि म्यूजियम बिल्डिंग का 50 प्रतिशत व मैमोरियल टावर संबधी 20 प्रतिशत कार्य पूरा किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि 31 मार्च 2021 तक लोक निर्माण विभाग द्वारा फिनिंशिग संबधी सभी कार्य कर लिए जायेंगे और 31 जुलाई 2021 तक इस पूरी परियोजना को पूरा कर लिया जायेगा।

बॉक्स
इस स्मारक में 210 फुट ऊंचाई के विशाल और आकर्षक मैमोरियल टावर के साथ-साथ 20 फुट ऊंचाई की दीवार बनाई जायेगी, जिन पर 1857 की क्रांति के योद्धाओं का उल्लेख किया जायेगा। इस स्मारक में विकसित किए जाने वाले 6 लॉन में 1857 की क्रांति के विवरणों का उल्लेख होगा तथा अम्बाला के इतिहास तथा 1857 की क्रांति में हरियाणा के स्वतंत्रता सेनानियों पर आधारित म्यूजियम भी बन रहा है। उन्होंने बताया कि ओपन एयर थियेटर के हाल, फूड कोर्ट, एग्जिबिशन के साथ-साथ आईसी बिल्डिंग में चिल्ड्रन कॉर्नर, बुक स्टोर, म्यूजियम बिल्डिंग में आधुनिक लिफ्ट की व्यवस्था के साथ-साथ अन्य व्यवस्थाएं, ऑडिटोरियम में स्थित ओपन थियेटर में लोगों के बैठने की व्यवस्था 20 अलग-अलग प्रकार के फव्वारे, वाटर कर्टेन के साथ-साथ दो प्लेटफार्म व अन्य व्यवस्थाएं रहेंगी। उन्होंने यह भी बताया कि कार पार्किंग और हैलीपैड की व्यवस्था के कार्य को भी तेजी से करने का काम किया जायेगा।
इस मौके पर एसडीएम सुभाष चंद्र सिहाग, चीफ इंजीनियर चंद्रमोहन, सूचना, जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के अतिरिक्त निदेशक डा0 कुलदीप सैनी, कार्यकारी अभियंता निशांत, एसडीओ रितेश अग्रवाल, आर्किटैक्चर रेणू खन्ना के साथ-साथ कंसलटैंट व सम्बन्धित विभाग के अधिकारीगण मौजूद रहे।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More