HomeFaridabadजानिए कैसे नाबार्ड द्वारा ग्रामीणों को किया जाएगा सौचालय के लिए जागरूक

जानिए कैसे नाबार्ड द्वारा ग्रामीणों को किया जाएगा सौचालय के लिए जागरूक

Published on

एसडीएम अपराजिता ने बताया कि राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) ने एक नई पहल करते हुए गाँवो में स्वच्छता साक्षरता अभियान (सैनिटेशन लिट्रेसी कैम्पेन) शुरू कर रहा है। इस अभियान का उद्देश्य भावी लाभार्थियों में व्यवहारगत बदलाव लाकर उन्हें गावों में बने शौचालयों का प्रोयोग करने के लिए प्रेरित करना है।

जानिए कैसे नाबार्ड द्वारा ग्रामीणों को किया जाएगा सौचालय के लिए जागरूक

यह जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। ग्राम पंचायत, पंचायती राज जनप्रतिनिधियों, ग्राम स्तरीय अन्य संगठनों के सदस्यों, स्थानीय बुजुर्ग, पूर्व जन प्रतिनिधियों, बैंकों और गैर सरकारी संगठनों आदि को भी इस जागरूकता अभियान से जोड़ा जाएगा। इस अवसर पर स्वच्छता साक्षारता अभियान के संबंध में तैयार किए गए जींगल, ब्रोशर, पोस्टर आदि का वितरण और जारी किए जाएँगे।

एलडीएम डॉ. अलभ्य मिश्रा ने बताया कि जिला मे कैनेरा बैंक के सहयोग से साफ सफाई और स्वच्छता के लिए बैंकों लोन की सुविधा और बैंकों से संबंधित जानकारियां साझा की जाएंगी। उन्होंने आगे बताया कि नाबार्ड ने देश में गांवो के लाभार्थियों को इस अभियान से जोड़ने का फैसला किया है। उन्होंने बताया कि भारत सरकार ने पूरे देश को स्वच्छ बनाने के लक्ष्य की पूर्ति के लिए 02 अक्टूबर 2014 को स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) शुरू किया था।

इस मिशन के अंतर्गत नाबार्ड भारत सरकार को लगातार वित्तीय सहायता देता आ रहा है। अब भारत खुले में शौच मुक्त हो चुका है और इस मिशन के अगले चरण में प्रवेश कर लिया है। अब मिशन के तहत हासिल सफलता को बरकरार रखने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता अभियान चलाकर लोगों की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी।

जानिए कैसे नाबार्ड द्वारा ग्रामीणों को किया जाएगा सौचालय के लिए जागरूक

उन्होंने बताया कि जिला मे वित्तीय संस्था होने के नाते नाबार्ड विभिन्न समुदायों के बीच विविध मुद्दों के समबधता के साथ साक्षारता और जागरूकता लाने का काम कर रहा है। वाश प्रोडक्ट्स (जल, साफ-सफाई तथा स्वस्थ्य) आदि के संबंध में साक्षर बनाने के उद्देश्य से नाबार्ड ने स्वच्छता साक्षरता अभियान शुरू किया है। जिला विकास प्रबंधक नाबार्ड विनय कुमार त्रिपाठी ने बताया कि सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार ग्रामीण क्षेत्रों में यह जागरूकता अभियान चलाकर जनभागीदारी सुनिश्चित की जाएगी।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...