HomeFaridabadजानिए रेड ज़ोन में क्या है खुला और क्या है बंद ।

जानिए रेड ज़ोन में क्या है खुला और क्या है बंद ।

Published on

फरीदाबाद : भारत देश में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा , जो इस महामारी को देश से भगाने कि और इस लॉक डाउन को खुलने कि दुआ ना मांग रहा हो ।लॉक डाउन 1 ने कई गरीबों की कमर तोड़ी और कईयों के घर के बजट भी बिगाड़े। केवल गरीब ही नहीं मिडल क्लास के लोग भी अब परेशान होने लगे की भला और कितने दिन ऐसे रहना होगा ।अब सरकार ने पूरे देश के जिलों को अलग अलग तीन ज़ोन में बांट दिया , रेड , ऑरेंज और ग्रीन ज़ोन ।

अब बात करते है फरीदाबाद शहर की जहां शुरुआत में तो कोरोना के मामले ना के बराबर थे लेकिन सोचा नहीं था कि अचानक से कोरोना सक्रमित लोगों की संख्या बढ़ जाएगी ।लॉक डाउन 3 में सरकार द्वारा कई सारी छूट दी गई है । लेकिन ज़ोन के हिसाब से , ग्रीन ज़ोन वालो को सबसे ज़्यादा , ऑरेंज ज़ोन में भी रियायत लेकिन रेड ज़ोन में ना के बराबर छूट दी गई है ।

फरीदाबाद शहर रेड ज़ोन के अन्तर्गत आ चुका है । लेकिन ज़रा उन पर भी नज़र डाल के की फरीदाबाद जो फिलहाल रेड ज़ोन में है , क्या क्या रियायत दी जाएगी।

फरीदाबाद वालों के लिए –

सबसे पहले आपको घरों से बाहर अनावश्यक रूप से नहीं निकलना है ।

ये याद रहे कि बुज़ुर्ग और 10 साल से छोटे बच्चों को घरों से बाहर बिल्कुल ना निकलने दें ।

चार पहिया वाहन के साथ ड्राइवर सहित केवल तीन लोग हो और दुपहिया वाहन पर केवल चालक हो ।साथ में किसी को बिठाने की अनुमति नहीं ।

साइकिल , रिक्शा ,ऑटो रिक्शा और अन्य कैब्स नहीं चलेंगी।

मोबाईल लैपटॉप स्टेशनरी की दुकानें खोल जाएंगी।

33फीसदी स्टाफ के साथ निजी दफ्तर खुलेंगे ।

इलेक्ट्रीशियन ,प्लम्बर ,कारपेंटर इत्यादि सेवाएं चालू रहेगी।

ओपीडी और मेडिकल क्लीनिकों को खुलने कि अनुमति ।

शराब गुटखा पान दुकानें खुली रहेंगी ।

स्पा और सैलून बंद रहेंगे ।

जहां साइट पर श्रमिक हो , निर्माण कार्य शुरू रहेंगे ।

बसे नहीं चलेंगी ।

कूरियर और पोस्टल सेवाएं जारी रहेंगी ।

इ कॉमर्स के जरिए जरूरी समान मांगा सकते है ।

अद्योगिक गतिविधियां परमिशन लेने के बाद चालू रहेंगी ।

जरूरी सूचना यह है कि कंटेंनमेंट ज़ोन में किसी भी प्रकार की रियायत नहीं दी जाएगी। इसलिए हमारे पाठकों से अनुरोध है कि पहले अपने इलाके की पुष्टि कर लेे । ताकि इन गाइडलाइंस का ठीक तरह से लाभ उठ सकें ।
लेकिन इन सभी बातों को ध्यान रखते है शारीरिक दूरी का ध्यान अवश्य रखें ।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...