HomeGovernmentखट्टर सरकार का बड़ा फैसला:प्रदेश में बढ़ते प्रदूषण के चलते पटाखों की...

खट्टर सरकार का बड़ा फैसला:प्रदेश में बढ़ते प्रदूषण के चलते पटाखों की बिक्री और आतिशबाजी पर रोक

Published on

प्रदेश में प्रदूषण का स्तर बढ़ता ही जा रहा है जिसे नियंत्रण में करने के लिए सरकार को काफी मशक्क़त करनी पड़ रही है। प्रदूषण को नियंत्रण में करने के लिए सरकार ने दिवाली से पहले पटाखों को लेकर बड़ा फैसला लिया है। हरियाणा सरकार समेत राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) ने हरियाणा, दिल्ली, और UP समेत अन्य राज्यों में पटाखों को 7 नवंबर से 30 नवंबर के बीच बैन करने को लेकर फैसला लिया है।

खट्टर सरकार का बड़ा फैसला:प्रदेश में बढ़ते प्रदूषण के चलते पटाखों की बिक्री और आतिशबाजी पर रोक

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का कहना है कि पटाखों से होने वाले प्रदूषण से कोविड-19 के प्रसार के जोखिम को रोकने के लिए सरकार ने राज्य में पटाखों की बिक्री व आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया है।

खट्टर सरकार का बड़ा फैसला:प्रदेश में बढ़ते प्रदूषण के चलते पटाखों की बिक्री और आतिशबाजी पर रोक

इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी होगा। बता दें कि प्रदूषण का स्तर जिस खतरनाक तरीके से प्रतिदिन बढ़ रहा है, उसने सरकार की चिंता बढ़ा दी है। शुक्रवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) फतेहाबाद में 627 माइक्रोग्राम पर पहुंचा।

खट्टर सरकार का बड़ा फैसला:प्रदेश में बढ़ते प्रदूषण के चलते पटाखों की बिक्री और आतिशबाजी पर रोक

फतेहाबाद समेत फरीदाबाद में भी प्रदूषण का स्तर शनिवार की सुबह ही 410 रिकॉर्ड किया गया है। 5 जिलों में एक्यूआई 400 से 500 के बीच गंभीर स्तर पर रहा। वहीं, 8 जिलों में यह 300 से 400 के बीच रहा। यह प्रदूषण का बेहद गंभीर व इमजेंसी स्तर है। बढ़ते प्रदूषण के ऐसे माहौल में स्वस्थ व्यक्ति के भी बीमार होने का खतरा रहता है तो मरीज़ों को कितना नुक्सान पहुँचता होगा इस बात का अंदाजा आप लगा सकते हैं।

खट्टर सरकार का बड़ा फैसला:प्रदेश में बढ़ते प्रदूषण के चलते पटाखों की बिक्री और आतिशबाजी पर रोक

प्रदूषण को नियंत्रण में करने के लिए सरकार नए नवीन कदम उठा रही है पर सभी प्रयास फेल होते नज़र आ रहे हैं। फिलहाल, 7 नवंबर से पूरे महीने के लिए पाठकों के इस्तेमाल और खरीद पर बैन लगाया गया है। इससे पहले भी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दो टीमों का भी गठन किया था जो प्रदूषण को नियंत्रण में रखने के लिए सुचारू रूप से काम कर रही थी पर फिर भी इन प्रयासों के बाद भी प्रदूषण को नियंत्रण में करने की कोई सफलता हाथ नहीं लगी है।

खट्टर सरकार का बड़ा फैसला:प्रदेश में बढ़ते प्रदूषण के चलते पटाखों की बिक्री और आतिशबाजी पर रोक

वहीँ पटाखा व्यापारियों का कहना है कि अगर पटाखों की बिक्री और आतिशबाजी पर रोक इतनी ही ज़रूरी था तो सरकार को पहले ही जनता तक इस बात की सूचना पहुंचानी चाहिए थी। कम से कम कारोबारियों का लाखों का माल ब्लॉक न होता।

खट्टर सरकार का बड़ा फैसला:प्रदेश में बढ़ते प्रदूषण के चलते पटाखों की बिक्री और आतिशबाजी पर रोक

“सरकार को पटाखों पर बैन लगाना ही था तो पहले बता देती और हमें लाइसेंस जारी न करती। हम कोई और काम कर लेते। हमने जो माल उठा रखा है जो बुकिंग कर रखी है वो तो वेस्ट हो गई। हमें कम से कम 15 लाख का नुकसान हो रहा है: पटाखों पर लगाए गए बैन पर एक विक्रेता, दरीबा कलां”

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...