Pehchan Faridabad
Know Your City

हरियाणा सरकार ने योग को बढ़ावा देने के लिए लिया खास फैसला

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश के स्कूलों में योग शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए 1,000 आयुष सहायकों के पदों की स्वीकृति दी गई है। इसके अतिरिक्त, प्रदेश में अब तक 560 व्यायामशालाएं स्थापित की गई हैं और इसके अतिरिक्त 600 व्यायामशालाएं

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश के स्कूलों में योग शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए 1,000 आयुष सहायकों के पदों की स्वीकृति दी गई है। इसके अतिरिक्त, प्रदेश में अब तक 560 व्यायामशालाएं स्थापित की गई हैं और इसके अतिरिक्त 600 व्यायामशालाएं स्थापित की जाएंगी।


मुख्यमंत्री ने आज पानीपत से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हरियाणा स्कूल शिक्षा परियोजना परिषद एवं हरियाणा योग परिषद के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित शिक्षा विभाग के अध्यापकों के योग प्रशिक्षण शिविर को संबोधित करते हुए यह जानकारी दी। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम तीन चरणों में 6,000 स्कूलों में चलाया जाएगा। प्रात:कालीन सभाओं में योग का समावेश किया जाएगा।


उन्होंने कहा कि कोरोना काल में जिस तरह से योग साधना, व्यायाम साधना, प्राणायाम बहुत लाभदायक रहे हैं उसी तरह से शरीर के अन्य विकारों को समाप्त करने के लिए योग को निरंतर आगे ले जाया जाएगा। उन्होंने कहा कि योग से कर्म में कुशलता आती है इसीलिए अध्यापकों के लिए यह प्रशिक्षण शिविर एक सप्ताह का होगा, जिसमें पहले चरण में 2200 अध्यापकों को योग में प्रशिक्षित किया जाएगा। उन्होंनेे कहा कि अब समय आ गया है कि हर व्यक्ति के जीवन में योग का महत्व बढ़ाया जाए।

अष्टयोग विद्या मन, आत्मा और शरीर को जोडक़र जो क्रिया-प्रतिक्रिया देती है, उसे योग साधना कहा गया है। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र संघ ने योग को मान्यता दी है और आज विश्व के 200 देश योग को अपना रहे हैं। यही कारण है कि योग आज विश्व विख्यात हो चुका है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि योग मनुष्य को शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रखने में सहायक है। प्राचीन काल में गुरुकुल में जब शिक्षा प्रदान की जाती थी तो शिक्षक व बच्चे हर तरह से योग में पारंगत होते थे और इसे आगे बढ़ाते थे। योग के माध्यम से ही जीवन के तनाव व चिंताओं से पार पाया जा सकता है क्योंंकि संयम, सहनशीलता योग के कारण ही सम्भव है। उन्होंने कहा कि योग से सम्बन्धित प्रतियोगिताएं खण्ड स्तर से लेकर राज्य स्तर तक आयोजित की जाएंगी। योग से कर्म में कुशलता आती है और मन स्थिर होता है। योग करने वाले को योगी भी कहा गया है। अब समय आ गया है कि हर व्यक्ति योगी बने और इस साधना को आगे बढ़ाए।


वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में यमुनानगर से जुड़े शिक्षा मंत्री श्री कंवरपाल गुज्जर ने कहा कि स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मन और आत्मा निवास करते हैं। योग भारत की पहचान रहा है। पूरे विश्व में योग को आगे बढ़ाने के लिए उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और बाबा रामदेव का आभार प्रकट करते हुए कहा कि उन्होंने योग को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलवाई है। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का योग शिक्षा के बारे में व्यक्तिगत रूप से रूचि लेने पर धन्यवाद भी किया। उन्होंने कहा कि बच्चों को चरित्रवान बनाने के लिए योग जरूरी है।


पंचकूला से जुड़े विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए सभी अध्यापकों के साथ-साथ शिक्षा विभाग के अधिकारियों और प्रदेश सरकार का धन्यवाद किया और कहा कि योग के प्रचार-प्रसार के लिए यह आयोजन बेहतर है।


हरियाणा योग परिषद के चेयरमैन डॉ.जयदीप आर्य ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा जिस तरह से योग को बढ़ाने के लिये योग परिषद का गठन किया गया है, उससे योग विद्या को बल मिला है और इससे नये आयाम स्थापित होंगे।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More