Pehchan Faridabad
Know Your City

रंग बिरंगी मूर्तियों से सज चुका है बाजार, शुरू हो चुकी हैं दीपावली की तैयारियां

दिवाली के त्यौहार के लिए पूरा क्षेत्र सुसज्जित हो चुका है। फरीदाबाद के तमाम बड़े बाजारों में अब त्यौहारों के रंग देखे जा सकते हैं। पूरे क्षेत्र में दिवाली की खरीदारी की जा रही है ऐसे में क्षेत्र में नए नए तरीके के सामान मिल रहे हैं।

फरीदाबाद में काम करने वाले कलाकारों द्वारा दिवाली की तैयारी कर दी गई हैं। आपको बता दें कि पूरे क्षेत्र में रंग बिरंगी मूर्तियों का वितरण किया जा रहा है। मार्किट में इस समय पर दिवाली की तैयारियों को लेकर धूम मची हुई है। फरीदाबाद में जगह जगह पर ये कलाकार मूर्तियां बेची जा रही है जो हर रंग में इस क्षेत्र में उपलध हैं।

स्मार्ट सिटी की बाईपास रोड पर कलाकारों की कला का नमूना देखा जा सकता है। पूरी सड़क पर मूर्तिकार अपनी मूर्तियों को सजा कर बैठे हुए हैं जो काफी सुन्दर नजर आ रही हैं। इन मूर्तियों को कलाकारों द्वारा अपने हाथ से ही सजाया गया है और इनमे रंग भरा गया है।

इन सभी मूर्तियों में हर किसी को भगवान् गणेश की मूर्तियां काफी लुभा रही हैं। इन मूर्तियों को बनानेर में इन कलाकारों को 4 से 5 महीने का वक़्त लग जाता है। एक मूर्ती की कीमत 500 रूपये से शुरू होती है और हर डिज़ाइन के साथ कीमत बदल जाती है।

साज सज्जा के लिए बनाई गई यह मूर्तियां पीओपी से मजबूत की गई हैं ताकि इनमे कोई दरार न आ सके। इन प्रतिमाओं में रंग बिरंगे कलर्स के साथ साथ चमकीले रंगो का भी उपयोग किया गया है। मूर्तियों के साथ साथ घरों और दरवाजों पर टांगने वाली झालर और घंटियों को भी बनाया गया है।

यह झालर चिकनी मिट्टी से बने हैं और इनपे क्रीम पॉलिश की गई है जिससे झालर की चमक बरकरार रहे। दिवाली के पर्व को ध्यान में रखते हुए कलाकारों द्वारा दिए रखने के लिए भी एक ख़ास तरीके के स्टैंड का निर्माण भी किया है।

फरीदाबाद में दुकाने सज चुकी हैं और हर किसी को इंतजार है ग्राहकों का। इन मूर्तियों की रचना करने वाले कलाकार इन मूर्तियों को लेकर उत्साहित हैं। लॉकडाउन लगने के बाद सभी छोटे व्यवसायकर्ताओं का रोजगार डूब चुका था त्यौहारों की वापसी से सबकी उम्मीदें बंध चुकी हैं।

हर कोई अब आस लगा कर बैठा है कि जल्द से जल्द उनकी अच्छी बिक्री होगी और अच्छा सामन बिक पाएगा। फरीदाबाद दिवाली के पर्व को मनाने के लिए पूर्णतः सुसज्जित है। महामारी के बावजूद लोगों के बीच त्योहारों के लेकर उत्साह देखने लायक है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More