HomeFaridabadसुशांत के परिवार पर फिरसे टूट पड़ा दुखों का पहाड़, दिवाली से...

सुशांत के परिवार पर फिरसे टूट पड़ा दुखों का पहाड़, दिवाली से पहले घर में छाया मातम

Published on

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत को अभी ज्यादा समय नहीं हुआ था कि उनके परिवार पर एक बार फिर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। अभिनेता के जीजा ओपी सिंह के घर पर मातम छाया हुआ है। ओपी सिंह के पिता का स्वर्गवास हो गया है।

आपको बता दें कि ओपी फिलहाल फरीदाबाद में बतौर पुलिस कमिश्नर तैनात हैं। बताया जा रहा है कि उनके पिता काफी समय से बिमार चल रहे थे और इसी चलते उन्हें शरीर और स्वास्थ्य से जुड़ी परेशानियां भी झेलनी पड़ रही थी। ओपी सिंह के पिता अपने बेटे और बहु के साथ यहीं फरीदाबाद में ही रह रहे थे।

सुशांत के परिवार पर फिरसे टूट पड़ा दुखों का पहाड़, दिवाली से पहले घर में छाया मातम

बिगड़ते स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए उन्हें फरीदाबाद के एशियन अस्पताल में एडमिट करवाया गया था जहां उन्होंने अपनी आखरी सांस ली। आपको बता दें कि सुशांत के पिता भी कुछ दिन पहले तक अपनी बड़ी बेटी रानी और दामाद ओपी सिंह के साथ फरीदाबाद में थे।

सुशांत के परिवार पर फिरसे टूट पड़ा दुखों का पहाड़, दिवाली से पहले घर में छाया मातम

पर फिर वह बिहार अपने आवास पर लौट गए। सुशांत की मौत से पूरा परिवार पहले से ही दुःख में था और परिवार के एक अन्य सदस्य की मौत ने सबका दुःख बड़ा दिया है। बताया जा रहा है कि पुलिस आयुक्त ओपी सिंह अपने पिता की मौत से काफी दुखी हैं।

सुशांत के परिवार पर फिरसे टूट पड़ा दुखों का पहाड़, दिवाली से पहले घर में छाया मातम

उनके पिता की मौत के बाद महामारी के संक्रमण दर को भी ध्यान में रखा गया है कि कम से काम लोग अस्पताल और आवास के बाहर आएं। आज पुलिस आयुक्त के सेक्टर 21 स्थित आवास के बाहर और एशियन अस्पताल के बाहर सन्नाटा पसरा नजर आया। आपको बता दें कि महामारी के चलते हर किसी को संक्रमण फैलने का डर है।

सुशांत के परिवार पर फिरसे टूट पड़ा दुखों का पहाड़, दिवाली से पहले घर में छाया मातम

जिसके चलते अभी अंतिम दर्शन और अंत्येष्टि को कम लोगों के की मौजूदगी में करवाया जाएगा। अभी तक ओपी सिंह के पिता की मौत के कारण को लेकर कोई जानकारी सामने नहीं आ पाई है। बताया जा रहा है कि उनका स्वास्थ्य पिछले काफी समय से खराब था।

उनका निरंतर रूप से इलाज भी करवाया जा रहा था। पर अचानक से उनकी तबियत बिगड़ने के बाद यह दुर्घटना हो गई। पुलिस आयुक्त का पूरा परिवार इस घटना से आहत है और दुखी है। अपने परिवार के एक और सदस्य को खो देने से पूरे परिवार में शोक की लहर है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...