Pehchan Faridabad
Know Your City

अब लंदन की गलियों में घूमेगा फरीदाबाद का यह स्ट्रीट डॉग, रातों रात बदल गई किस्मत

फरीदाबाद क्षेत्र में एक स्ट्रीट डॉग की किस्मत रातों रात पलट गई। जहां एक आम इंसान को सहायत विलायत जाना नसीब नहीं होता पर एक सड़क के डॉगी को अब लंदन में सफारी मिलने जा रही है। खबर फरीदाबाद क्षेत्र की है जहां के एक स्ट्रीट डॉग को अब लंदन में आशियाना मिल गया है।

आपको बता दें कि रोकी नामक इस स्ट्रीट डॉग की कहानी काफी दिलचस्प और रोमांच से भरी रही है। बीते साल रॉकी एक ट्रेन की चपेट में आकर घायल हो गया था। अब रॉकी को लंदन में रहने वाली लीला ने गोद ले लिया है। डॉग अडॉप्शन की तमाम कागज़ी कार्रवाही को पूरा किया जा चुका है।

बताया जा रहा है कि 18 नवंबर को रॉकी को लंदन के लिए रवाना कर दिया जाएगा। ट्रेन हादसे में रॉकी ने अपने दो पैर गवा दिए थे। उसे खाना तलाशने में भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था। जब सोशल मीडिया के माध्यम से लंदन में रहने वाली लीला को रॉकी के बारे में पता लगा तब उन्होंने रॉकी को गोद लेने का फैसला किया।

रॉकी को बीते साल बल्लभगढ़ स्टेशन के बाहर गंभीर हालत में पाया गया। जिन चिकित्सकों ने रॉकी का इलाज किया था उन्होंने ही रॉकी को यह नाम दिया। बताया जा रहा कि लीला रॉकी को अपने साथ हवाई जहाज में लेकर जाएँगी। लीला द्वारा उठाया गया यह कदम सभी के लिए एक प्रेरणा स्त्रोत है। फरीदाबाद क्षेत्र में स्ट्रीट डॉग्स की तादाद काफी ज्यादा बढ़ गई है।

pack 2

ऐसे में देख रेख किया जाना काफी महत्वपूर्ण है। जानवारों के साथ हिंसा की खबरे काफी तेजी से बढ़ रही हैं ऐसे में जरूरी है कि जागरूकता के साथ साथ आला कदम भी उठाए जाएं। बता दें कि क्षेत्र में ऐसी कई संस्थाएं हैं जो मिलकर जानवरों की सुरक्षा और उनके हित में काम कर रहे हैं।

ये सभी एनजीओ और संस्थान आए दिन जानवरों के खिलाफ हो रहे उत्पीड़न को रिपोर्ट करते हैं और इनकी खबर साझा करते हैं। ऐसे में जरूरत है कि सरकार और फरीदाबाद कार्य प्रणाली इस पूरे मामले में सक्रीय होकर बेहतर कदम उठाएं और जानवरों के हित में काम करें। क्षेत्र में बहुत सारे ऐसे जानवर हैं जिन्हे चिकत्सकों और रख रखाव की दरकार है ऐसे में जरूरत है कि क्षेत्रीय कार्य प्राणली इस मामले में ध्यान दें।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More