Online se Dil tak

Fact Check : गुरुग्राम-फरीदाबाद को देश का स्मार्टेस्ट सिटी बनाने की घोषणा, क्या अब पूरे होंगे विकास के दावे ?

हरियाणा की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाले ग्लोबल सिटी गुरुग्राम (Gurugram) को विश्व के मानचित्र पर उभारने की एक और पहल करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल (Chief Minister Manohar Lal) ने गुरुग्राम को देश का स्मार्टेस्ट सिटी बनाने की घोषणा की है। इस कड़ी में उन्होंने मानेसर में अलग से नया नगर निगम (Municipal Corporation) बनाने तथा इस क्षेत्र में न्यू गुरुग्राम शहर विकसित करने के प्रस्ताव का सुझाव दिया। मुख्यमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से गुरुग्राम में प्रोजेक्ट एयर केयर व गुरुग्राम-महरौली रोड पर गुरुग्राम के प्रवेश मार्ग के सौंदर्यकरण की दो परियोजनाओं के लोकार्पण अवसर पर बोल रहे थे।

Fact Check : गुरुग्राम-फरीदाबाद को देश का स्मार्टेस्ट सिटी बनाने की घोषणा, क्या अब पूरे होंगे विकास के दावे ?
Fact Check : गुरुग्राम-फरीदाबाद को देश का स्मार्टेस्ट सिटी बनाने की घोषणा, क्या अब पूरे होंगे विकास के दावे ?

मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में गुरुग्राम व फरीदाबाद महानगर होने के नाते यहां दोनों शहरों के लिए अलग से महानगर विकास प्राधिकरण पहले ही गठित किए जा चुके हैं। इन शहरों में बढ़ता वायु प्रदूषण हम सब के लिए एक चिंता का विषय है और इसी को देखते हुए वायु को साफ करने के लिए दो प्रोजेक्ट- एयर केयर योजनाओं की शुरुआत की गई। वायु गुणवत्ता की बिगड़ती हालत देखते हुए इसको सुधारने और प्रदूषण को नियंत्रण में करने के लिए सरकार सक्रीय कदम उठा रही है।

Fact Check : गुरुग्राम-फरीदाबाद को देश का स्मार्टेस्ट सिटी बनाने की घोषणा, क्या अब पूरे होंगे विकास के दावे ?
Fact Check : गुरुग्राम-फरीदाबाद को देश का स्मार्टेस्ट सिटी बनाने की घोषणा, क्या अब पूरे होंगे विकास के दावे ?

इतना ही नहीं, मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि गुरुग्राम व फरीदाबाद के साथ-साथ करनाल को भी स्मार्ट सिटी परियोजना में शामिल किया गया है। इन शहरों में स्मार्ट मानदण्डों के अनुरूप जल प्रबंधन, सुरक्षा प्रणाली, सार्वजनिक परिवहन व भवन, सुशासन, ई-एजुकेशन, टेली मेडिसन जैसी सुवधिाएं विकसित करने की आवश्यकता है और इसी के अनुरूप इन्फ्रास्ट्रक्चर विकसित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज लोकार्पित की गई ये दो महत्वपूर्ण परियोजनाएं भी इसी कड़ी का हिस्सा हैं।

Fact Check : गुरुग्राम-फरीदाबाद को देश का स्मार्टेस्ट सिटी बनाने की घोषणा, क्या अब पूरे होंगे विकास के दावे ?
Fact Check : गुरुग्राम-फरीदाबाद को देश का स्मार्टेस्ट सिटी बनाने की घोषणा, क्या अब पूरे होंगे विकास के दावे ?

गुरुग्राम के लोगों को इन दो परियोजनाओं के लिए बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि ये परियोजनाएं दीपावली के उपहार स्वरूप हैं। उन्होंने कहा कि गुरुग्राम के लोगों को त्वरित प्रशासनिक सेवाएं उपलब्ध करवाने के दृष्टिगत यहां पर लगभग 180 करोड़ रुपये की लगात से टॉवर ऑफ जस्टिस का निर्माण भी करवाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यहां का लोक निर्माण विभाग का विश्राम गृह स्टेट ऑफ आर्ट के नाम से जाना जाता है जो इस शहर का गौरव भी है।

Fact Check : गुरुग्राम-फरीदाबाद को देश का स्मार्टेस्ट सिटी बनाने की घोषणा, क्या अब पूरे होंगे विकास के दावे ?
Fact Check : गुरुग्राम-फरीदाबाद को देश का स्मार्टेस्ट सिटी बनाने की घोषणा, क्या अब पूरे होंगे विकास के दावे ?

बता दें कि, इस परियोजना की खबर आते ही केवल गुरुग्राम में विकास की बात हइलइट हो रही थी जिससे एक भ्रम हुआ कि केवल गुड़गांव में ही विकास की योजना। पर पहचान फरीदाबाद की टीम ने खबर की तेह तक पहुँच कर यह पता लगाया है कि सिर्फ गुरुग्राम ही नहीं बल्कि फरीदाबाद और करनाल को भी स्मार्ट सिटी परियोजना में शामिल किया गया है। इसलिए सरकार द्वारा प्रस्तावित विकास के कार्य सिर्फ गुरुग्राम तक ही सीमित नहीं रहेंगे बल्कि इसका लाभ फरीदाबाद और करनाल के लोग भी भरपूर उठा पाएंगे।

Read More

Recent