Online se Dil tak

हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर झुलसी छात्रा, मौके पर ही तोड़ दिया दम

टाउन नंबर पांच में मंगलवार सुबह 11 हजार वॉल्ट की हाइटेंशन लाइन की चपेट में आने से 22 वर्षीय सीए अंतिम वर्ष की छात्रा की मौके पर ही मौत हो गई। इससे गुस्साए परिजनों ने टाउन नंबर पांच के निरंकारी चौक पर जाम लगा कर मुआवजे और सरकारी नौकरी की मांग की।

दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के अधीक्षण अभियंता नरेश कुमार कक्कड़ से आश्वासन मिलने के बाद लोगों ने जाम खोल दिया। करीब एक घंटे तक जाम रहा। मृतका की पहचान टाउन नम्बर पांच एच ब्लॉक निवासी 22 वर्षीय शीला धूपड़ के रूप में हुई।

हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर झुलसी छात्रा, मौके पर ही तोड़ दिया दम
हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर झुलसी छात्रा, मौके पर ही तोड़ दिया दम

वह सुबह करीब 11 बजे कंबल सुखाने के लिए छत पर चढ़ी थी। जैसे ही उसने कंबल रस्सी पर डाला तो वह बराबर से गुजरने वाली हाईटेंशन तार की चपेट में आ गई। छात्रा को झुलसता देख उसके पड़ोसी नीचे दौड़ आए। छात्रा के परिजनों ने उसे नीलम चौक के पास एस्कॉर्ट्स फोर्टिज अस्पताल में भर्ती करवाया। वहां मौजूद चिकित्सकों ने छात्रा को मृत घोषित कर दिया।

हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर झुलसी छात्रा, मौके पर ही तोड़ दिया दम
हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर झुलसी छात्रा, मौके पर ही तोड़ दिया दम

घटना से गुस्साए परिजनों ने शाम करीब चार बजे निरंकारी चौक के पास जाम लगा दिया। सूचना मिलते ही एनआईटी थाना एसएचओ फूल कुमार मौके पर पहुंच गए। पुलिसकर्मियों ने वाहनों को डायवर्ट करना शुरू कर दिया। परिजनों ने थाना एसएचओ से मुआवजे और सरकारी नौकरी की मांग की।

हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर झुलसी छात्रा, मौके पर ही तोड़ दिया दम
हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर झुलसी छात्रा, मौके पर ही तोड़ दिया दम

उपमंडल नंबर तीन की एसडीओ उर्मिला ग्रेवाल भी मौके पर पहुंची। उन्हीने सहायता का भरोसा दिया मगर, लोग शांत नहीं हुए। इसके बाद एनाआईटी मंडल के कार्यकारी अभियंता कुलदीप नेहरा पहुंच गए। उन्होंने भी लोगों को विभाग के नियमानुसार सहायता का भरोसा दिया।

हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर झुलसी छात्रा, मौके पर ही तोड़ दिया दम
हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर झुलसी छात्रा, मौके पर ही तोड़ दिया दम

पर वहां मौजूद लोग अधीक्षण अभियंता से बात करने की मांग करने लगे। इस पर उन्होंने अधीक्षण अभियंता नरेश कुमार कक्कड़ से परिजनों की फोन पर बात करवाई। अधीक्षण अभियंता ने उनकी मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया है।

Read More

Recent