Pehchan Faridabad
Know Your City

तीन दिन बाद फिर लौट आया प्रदूषण, जनता को हो रही हैं सांस लेने में परेशानी

शहर की हवा पुनः खराब होने लगी है। पिछले दिनों दीपावली के बाद हुई बारिश से प्रदूषण की मात्रा में काबू पा लिया गया था। शहर की हवा साफ़ हो गई थी और तकरीबन 40 दिन बाद लोग सांस ले पा रहे थे। अब बात की जाए तो फरीदाबाद की आबोहवा थोड़ी खराब हो रही है।

गुरुवार को प्रदूषण की मात्रा में इजाफा हो गया। तीन दिनों से शहर का एक्यूआई मध्यम श्रेणी पर बना हुआ था, गुरुवार को फिर से खराब श्रेणी में पहुँच गया है। गुरुवार को एक्यूआई 255 दर्ज किया गया, जबकि बुधवार को यह क्रमांक 83 के अधिक रहा।

रविवार के बाद से लगातार गिर रहा था प्रदूषण का स्तर

जिले में दिवाली के अगले दिन रविवार को प्रदूषण के स्तर में काफी बढ़ोतरी हुई थी। लेकिन रविवार शाम हुई बारिश ने फरीदाबाद की हवा को साफ़ कर दिया था। बारिश के बाद प्रदूषण मध्यम श्रेणी में पहुँच गया था। इसके बाद सोमवार से बुधवार तक लगातार हवा साफ़ रही और एक्यूआई का स्तर 200 से नीचे बना रहा। बारिश के बाद सड़कों के साथ पड़ी धूल भी दब गई।

इससे प्रदूषण की मात्रा पर भी कुछ समय के लिए नियंत्रण पा लिया गया था। वाहन चालकों और यात्रियों को भी सफर करने में आसानी होने लगी थी। सेक्टर 30 क्षेत्र की हवा गुरुवार को सबसे अधिक खराब रही। यहां वायु गुणवत्ता सूचकांक 302 रहा। सेक्टर 16 में एक्यूआई 291 और सेक्टर 11 का 245 बना रहा। एनआईटी क्षेत्र का एक्यूआई 190 रहा।

बल्लभगढ़ में एक्यूआई का स्तर 127 दर्ज किया गया। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी दिनेश कुमार ने बताया कि उन्होंने प्रदूषण सम्बंधित गतिविधियों पर अपनी नजर बनाई हुई है। आपको बता दें कि स्मार्ट सिटी में प्रदूषण की मात्रा में तेजी से हो रहे इजाफे से जनता को काफी परेशानी हो रही है। क्षेत्र में रहने वाले बुजुर्गों को सांस लेने में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में प्रदूषण अगर विक्राल रूप अपनाता है तो पूरा क्षेत्र उसकी चपेट से नहीं बच पाएगा।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More