Pehchan Faridabad
Know Your City

बल्लभगढ़ अपराजिता ने महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा किशोरियों को किया संबोधित


एसडीएम अपराजिता ने कहा कि किशोरी अवस्था के दौरान लङकी के शरीर के हारमोन बढ़ने शुरू होते हैं और लडकियों के शरीर का आन्तरिक और बाहरी विकास होता है। किशोरियो को महावारी के दौरान घबराने की जरूरत नहीं है, बल्कि शरीर की स्वच्छता और खान पान पर ध्यान रखने की जरूरत है।


एसडीएम अपराजिता ने आज शुक्रवार को महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित किशोरी कार्यशाला में उपमंडल के गांव चन्दावली के पंचायत घर किशोरियो को संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने मैनस्च्यूरवल हाईजीन कार्यशाला में बालिकाओं को संबोधित करते हुए कहा कि महावारी के दौरान कोई भी शारीरिक परेशानी होती है तो वे अपनी माँ, बहन, भाभी, स्कूल अध्यापिका और आँगन बाङी वर्करों तथा स्वस्थ केन्द्र में जाकर महिला चिकित्सक के साथ बेहिचक बातचीत कर सकती है और महावारी के कारण शरीर में आ रही परेशानियों के समाधान के लिए सुझाव सांझा करें ।

उन्होंने कहा कि इसके लिए घबराने की जरूरत नहीं है। यह महिलाओं के लिए एक प्रकृति की देन है, इस दौरान कोई शर्म नहीं करनी चाहिए,बल्कि बिना झिझक इस बारे सुझाव सांझा करने चाहिए। उन्होंने कहा कि इस दौरान शरीर की स्वच्छता का पूरा ध्यान रखते हुए जंक फूड आदि खाने से परहेज करना चाहिए। गन्दे कपङे का इस्तेमाल न करके सनेटरी पैड का इस्तेमाल करें।


सीडीपीओ शकुन्तला रखेजा व ग्राम पंचायत की सरपंच अन्जु देवी ने एसडीएम अपराजिता का कार्यशाला में पहुँचने गर्म जोशी के साथ स्वागत किया।


सीडीपीओ शकुन्तला रखेजा ने बताया कि बालिकाओं को एक दिवसीय कार्यशाला में महावारी के लिए प्रशिक्षण देकर जागरूक किया जा रहा है । बालिकाओं को महावारी के समय स्वस्थ रहने के लिए स्वच्छता तथा खान पान सम्बन्धित जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा किशोरियो के लिए सम्मान योजना के तहत बीपीएल व एएआई परिवारों की बालिकाओं और महिलाओं महावारी के सेनेटरी नेपकीन उपलब्ध करवाए जा रहा है।

महावारी के समय किशोरियो की विभाग की अधिकारियों तथा अन्य महिला कर्मचारियों द्वारा कान्सलिगं करके उन्हे पूरी जानकारी दी जा रही है।उन्होंने कहा कि किशोरियो को यह भी बताया जाता है कि महावारी चक्र क्या और शरीर में कब शुरू होता है।


साईंस एवं टैक्नोलॉजी विभाग की डाक्टर इरफान बेगम, डाक्टर रीटा व श्रीमती सुषमा यादव द्वारा किशोरी कार्यशाला में किशोरियो को मासिक धर्म के दौरान स्वस्थ रहने के लिए स्वच्छता तथा खान पान सम्बन्धित जानकारी विस्तार पूर्वक दी गई । इसके अलावा मासिक धर्म के चक्र से अनजान न रहकर शक्ति अभियान बारे जागरूक किया । उन्होंने किशोरावस्था के दौरान उनके जीवन में आई परेशानी बारे अवगत करवाकर सुझाव भी सांझ किए गए।
कार्यशाला में किशोरियो को

महामारी के संक्रमण के बचाव के लिए सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार सौसल डिस्टेसं रखने तथा मुंह पर मास्क लगाने और हाथों को साबुन से धोने व सनेटाइजर करने के लिए स्वयं जागरूक होने और अपने परिजनों तथा सहपाठीयो को प्रेरित करने के लिए भी जागरूक किया गया । बालिकाओं को सेनेटरी कीट तथा मास्क भी वितरित किये गये ।
इस अवसर पर सीडीपीओ अनिता शर्मा, मेडिकल आफिसर डाक्टर सोनिया, महिला मण्डल प्रधान श्रीमती वितेश, डाक्टर इन्दु खुराना, सुपरवाइजर शालु, राज, गीता सहित आँगन बाङी वर्करों तथा हैल्परो ने भाग लिया ।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More