HomeIndiaलंदन की गलियों में आराम फार्मा रहा है फरीदाबाद का यह स्ट्रीट...

लंदन की गलियों में आराम फार्मा रहा है फरीदाबाद का यह स्ट्रीट डॉग, स्पेशल फ्लाइट से पंहुचा शहर

Published on

बीते वर्ष ट्रेन की चपेट में आकर घायल होने वाली बेसहारा स्ट्रीट डॉग राकी अब लंदन पहुंच गई है। उसे लंदन की निवासी लाला नामक युवती ने गोद लिया है। आपको बता दें कि राकी को 18 नवंबर के दिन लंदन के लिए 18 रवाना कर दिया गया था।

अब क्षेत्र में बेसहारा पशुओं की देखभाल के लिए संचालित पीपल फार एनीमल ट्रस्ट के रवि दुबे की ओर से खबर आई है कि राकी सुरक्षित रूप से लंदन पहुंच चुकी है और लाला के साथ भी घुल-मिल गई है।

लंदन की गलियों में आराम फार्मा रहा है फरीदाबाद का यह स्ट्रीट डॉग, स्पेशल फ्लाइट से पंहुचा शहर

बल्लभगढ़ रेलवे स्टेशन के पास 18 अक्टूबर-2019 को ट्रेन की चपेट में आने से राकी बुरी तरह से चोटिल हो गई थी। जिसके बाद पुलिस के सिपाही चंदरपाल ने राकी को पीपल फार एनीमल ट्रस्ट फरीदाबाद के कार्यकारी अध्यक्ष रवि दुबे के पास पहुंचाया था।

लंदन की गलियों में आराम फार्मा रहा है फरीदाबाद का यह स्ट्रीट डॉग, स्पेशल फ्लाइट से पंहुचा शहर

ट्रेन के पहियों के नीचे आने की वजह से राकी के आगे के दोनों पैर बिल्कुल खराब हो गए थे। रवि दुबे ने जनवरी में राकी पर एक डाक्युमेंट्री बनाकर वाइल्ड ऐट हार्ट फाउंडेशन यूनाइटेड किगडम के साथ साझा की। राकी की डाक्युमेंट्री देखकर लंदन की निवासी लाला ने गोद लेने की इच्छा जाहिर की थी।

लंदन की गलियों में आराम फार्मा रहा है फरीदाबाद का यह स्ट्रीट डॉग, स्पेशल फ्लाइट से पंहुचा शहर

आवश्यक जांच के बाद 18 नवंबर को राकी को लंदन जाने के लिए रवाना कर दिया गया था। इससे पूर्व पुलिस उपायुक्त डा.अंशु सिगला ने अपने निवास पर राकी की विदाई पार्टी भी रखी थी। इस पार्टी में राकी को बचाने वाले सिपाही चंदरपाल को सम्मानित किया गया था।

लंदन की गलियों में आराम फार्मा रहा है फरीदाबाद का यह स्ट्रीट डॉग, स्पेशल फ्लाइट से पंहुचा शहर

आपको बता दें कि राकी की नाजुक हालत देख उसे पूरी सावधानी के साथ रखा गया था। दोनों पैर न होने के कारण राकी को चलने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था। वह अपने लिए खाना ढूंढ़ने में भी सक्षम नहीं थी ऐसे में उसका गोद लिए जाना काफी महत्वपूर्ण है।

हाल फिलहाल लाला और राकी की एक तस्वीर सामने आई है जिसमे वह दोनों काफी खुश नजर आ रहे हैं। एक दुसरे का साथ दोनों को ही काफी पसंद आ रहा है। आपको बता दें कि क्षेत्र में ऐसे बहुत सारे जानवर है जो अपने शरीर से सशक्त नहीं हैं ऐसे में उनकी देख रेख किए जाना जरूरी है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...