HomeFaridabadनगर निगम और ठेकेदारों के बीच घुन बनकर पिस रहा है आम...

नगर निगम और ठेकेदारों के बीच घुन बनकर पिस रहा है आम इंसान, फरीदाबाद में चल रहे निर्माण कार्य ठप

Published on

फरीदाबाद नगर निगम हमेश से ही सवालों से घिरा रहता है। पिछले काफी समय से निगम द्वारा की जा रही लापरवाही की खबरें सामने आ रही हैं जो फरीदाबाद के विकास कार्य से जुड़ी हैं। एक बार फिर से नगर निगम के महकमे से लापरवाही की खबरें सामने आ रही है।

आपको बता दें कि बकाया भुगतान नहीं होने पर नगर निगम के ठेकेदारों ने शहर में चल रहे विकास कार्यों पर विराम लगा दिया है। ठेकेदारों ने चेतावनी दी है कि वह भुगतान नहीं होने तक आगे भी नए विकास कार्यों की निविदाएं नहीं लेंगे। बीते सप्ताह ठेकेदार एसोसिएशन ने निगम आयुक्त से भुगतान में आने वाली दिक्कतों को दूर करने के लिए निवेदन किया था।

नगर निगम और ठेकेदारों के बीच घुन बनकर पिस रहा है आम इंसान, फरीदाबाद में चल रहे निर्माण कार्य ठप

विनती के बाद भी भुगतान नहीं हो पाया। नगर निगम ठेकेदार एसोसिएशन के प्रधान गिर्राज सिंह ने बताया कि 28 अक्टूबर को ठेकेदारों का एक प्रतिनिधिमंडल आयुक्त से मिला था और भुगतान के बारे में बातचीत की गई थी। बात करने के बाद निगम आयुक्त द्वारा ठेकेदारों को भरोसा दिलाया गया था कि जल्द उनकी परेशानियों का निवारण किया जाएगा।

नगर निगम और ठेकेदारों के बीच घुन बनकर पिस रहा है आम इंसान, फरीदाबाद में चल रहे निर्माण कार्य ठप

अब परेशान होकर ठेकेदारों द्वारा यह मांग रखी गई है कि कंप्लीशन रिपोर्ट को निरस्त किया जाए। बिल परफोर्मा कार्यकारी अभियंता तक ही सीमित रखा जाए। आपको बता दें कि महामारी के चलते कुछ विकास कार्य बीच में ही लटक गए हैं, जिनकी अंतिम तिथि बड़ाई जाने की मांग की जा रही है।

नगर निगम और ठेकेदारों के बीच घुन बनकर पिस रहा है आम इंसान, फरीदाबाद में चल रहे निर्माण कार्य ठप

आयुक्त द्वारा सभी मांगों को मान्य करके भुगतान के निर्देश दिए गए हैं। पर अभी तक किसी भी मांग पर अमल नहीं हुआ है। ठेकेदारों ने बताया कि निगम के पास उनका कुल ढाई सौ करोड़ रूपये का बकाया है जिसका अभी तक भुगतान नहीं हो पाया है।

नगर निगम और ठेकेदारों के बीच घुन बनकर पिस रहा है आम इंसान, फरीदाबाद में चल रहे निर्माण कार्य ठप

इसमें वर्ष 2018 मार्च तक का करीब 70 करोड़ रूपये, करीब 100 करोड़ रूपये उसके बाद का और 90 करोड़ रूपये मुख्यमंत्री घोषणा के विकास कार्यों का लंबित है। ठेकेदारों के निवेश की भी एक सीमा है। अब भुगतान के बिना आगे काम करना ठेकेदारों को रास नहीं आ रहा है।

फरीदाबाद नगर निगम के हवाले से ऐसी लापरवाही की खबरें सामने आने का किस्सा काफी पुराना है। निगम में पैसों को लेकर हेर फेर के मामले पहले भी सामने आ चुके हैं। अब देखना जरूरी होगा कि कब तक ठेकेदारों तक बकाया राशि पहुँच पाती है और निर्माण कार्य पुनः शुरू हो पाते हैं।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...