HomeFaridabadप्रदूषण नियंत्रण के सभी प्रयास हुए फेल, बेकाबू हो रहे हालात खोल...

प्रदूषण नियंत्रण के सभी प्रयास हुए फेल, बेकाबू हो रहे हालात खोल रहे लापरवाह निगम की पोल

Published on

फरीदाबाद जिले में प्रदूषण जिस खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है उसने सिर्फ सरकार की चिंता को भी बढ़ा दिया है। बढ़ते प्रदूषण को नियंत्रण में करने के लिए नगर निगम और प्रशासन ने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की सहमति से 2 टीमों का भी गठन किया था जो प्रदूषण बढ़ाने वाले कारणों पर नजर रखी हुई थी। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा था कि जल्द ही बढ़ते प्रदूषण को नियंत्रण में कर लिया जाएगा।

प्रदूषण नियंत्रण के सभी प्रयास हुए फेल, बेकाबू हो रहे हालात खोल रहे लापरवाह निगम की पोल

बता दें कि वायु प्रदूषण पर कंट्रोल करने वाली नगर निगम की टीमें अपने काम के प्रति लापरवाही बरत रही है। जिसके कारण एक बार फिर जिले में प्रदूषण का स्तर खतरनाक तरीके से बढ़ने लगा है। मंगलवार को शहर में एयर क्वालिटी इंडेक्स यानी वायु गुणवत्ता सूचकांक 360 दर्ज किया गया ऐसा माना जाता है कि यह आंकड़ा वायु की गुणवत्ता की बहुत ही खतरनाक श्रेणी में गिना जाता है।

प्रदूषण नियंत्रण के सभी प्रयास हुए फेल, बेकाबू हो रहे हालात खोल रहे लापरवाह निगम की पोल

नगर निगम की टीमों को सड़क पर पानी का छिड़काव करने और छोटी-बड़ी सभी कंस्ट्रक्शन साइट पर नजर रखने के आदेश दिए गए थे लेकिन निगम की टीमों की कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह लगता नजर आ रहा है।

प्रदूषण नियंत्रण के सभी प्रयास हुए फेल, बेकाबू हो रहे हालात खोल रहे लापरवाह निगम की पोल

सड़कों पर उड़ती धूल स्थानीय निवासियों के दिक्कतें बढ़ा रही है और साथ ही नगर निगम द्वारा किए गए विकास के दावों की पोल खोल रही है। इतना ही नहीं कंस्ट्रक्शन साइट पर भी यूपीसीए के नियमों का पालन किए बगैर ही काम हो रहा है और यही कारण है जिसकी वजह से प्रदूषण का स्तर एक बार फिर बढ़ने लगा है।

प्रदूषण नियंत्रण के सभी प्रयास हुए फेल, बेकाबू हो रहे हालात खोल रहे लापरवाह निगम की पोल

शहर में वायु प्रदूषण के बढ़ने का मुख्य कारण उड़ती धूल दी है। फरीदाबाद के 3 जून में सड़कों से धूल हटाने के लिए नगर निगम के पास 6 मशीनें हैं। इन मशीनों से नगर निगम सफाई करने का काम भी सही तरीके से नहीं कर रहा है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि जब प्रदूषण जैसी सामान्य परेशानी ही नगर निगम हल नहीं कर पा रहा तो उन बड़े-बड़े विकास और प्रगति के दावों का क्या कहीं वह दावे सिर्फ झूठे वादे बनकर ही ना रह जाएँ।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...