Pehchan Faridabad
Know Your City

सुपर फूड मखाना: इसकी खेती करके लाखों रुपए कमा रहे हैं किसान, सेहत के लिए भी है काफी फायदेमंद

मखाना कई प्रकार के पोषक तत्वों से भरपूर होता है, जो सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। मखाना को फॉक्स नट और फूल मखाना के नाम से भी जाना जाता है। यह एक स्वादिष्ट और पौष्टिक खाद्य पदार्थ है।

मखाना एक ऐसा आहार है, जिसे आप कहीं भी, कभी भी स्नैक्स के रूप में खा सकते हैं। मखाना स्वाद में बेहतरीन होता है, कई क्षेत्रों में मखाने की खीर भी लोकप्रिय है। इसके अलावा व्रत के दौरान भी उपवास रखने वाले लोगों के लिए मखाना एक महत्वपूर्ण खाद्य पदार्थ होता है।

बिहार के किसान कई तरह की फसलें उगाता है। इनमें से एक है सुपर फूड के नाम से पूरे विश्व में प्रसिद्ध मखाना जी हां इसकी खेती उत्तरी बिहार के दरभंगा, मधुबनी और इसके आस-पास के इलाकों में होती है।

दुनिया में सबसे अधिक मखाना बिहार के इन्हीं इलाके में पैदा होता है। आपको बता दे कि देश में लगभग 15 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में मखाने की खेती होती है, जिसमें 80 से 90 फीसदी उत्पादन अकेले बिहार में होता है।

इसमें से अकेले मिथिलांचल में ही 70 फीसदी उत्पादन होता है। आपको बता दे कि मखाना एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है. इसमें मौजूद कैल्शि‍यम जोड़ों के दर्द में फायदा पहुंचाता है। व्रत के दौरान होने वाली थकान और तनाव से बचने के लिए मखाना खाना आपके लिए फायदेमंद रहेगा।

बताते चले कि मखाना की खेती की शुरुआत बिहार के दरभंगा जिला से हुई. अब इसका विस्तार क्षेत्र सहरसा, पूर्णिया, कटिहार, किशनगंज होते हुए पश्चिम बंगाल के मालदा जिले के हरिश्रंद्रपुर तक फैल गया है पिछले एक दशक से पूर्णिया जिले में मखाना की खेती व्यापक रूप से हो रही है।

साल भर जलजमाव वाली जमीन मखाना की खेती के लिए उपयुक्त साबित हो रही है। बड़ी जोत वाले किसान अपनी जमीन को मखाना की खेती के लिए लीज पर दे रहे हैं। इसकी खेती से बेकार पड़ी जमीन से अच्छी वार्षिक आय हो रही है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More