HomeUncategorizedकंटेंटमैंट की डोर टूटते ही दबे पांव कोरोना ने दी दस्तक, सेक्टर...

कंटेंटमैंट की डोर टूटते ही दबे पांव कोरोना ने दी दस्तक, सेक्टर -16 में फिर मिला कोरोना संक्रमित

Published on

स्मार्ट सिटी का दर्जा लिए फरीदाबाद में लोगों की जरूरत से ज़्यादा स्मार्टनेस खुद लोगों के लिए परेशानी का सबब बनी हुई है। एक तरफ हर दिन बीतने के साथ फरीदाबाद में कोरोना वायरससे संक्रमित मरीजों के संख्या में इजाफा होता दिख रहा है, वहीं अब यह संक्रमण लोगों की जान लेने पर उतारू हो चुका है। अभी तक फरीदाबाद में कोरोना वायरस के लपेटे में आकर तीन लोग अपनी जान गवां चुके हैं।

वहीं तीन मौत के बाद आज फरीदाबाद में दो नए संक्रमित व्यक्ति की पुष्टि विभाग द्वारा कि गई हैं।जिनमें से एक सैक्टर 16 (उम्र 41 वर्ष) व दूसरा सैक्टर 62 (उम्र 42 वर्ष ) से आ रहा है। इनके घरों पर चेतावनी नोटिस लगा दिया गया है। बताया गया है कि इनमें से एक एसबीआई बैंक में कार्यरत है। इस बैंक कर्मचारी ने गुरूग्राम की एक प्राईवेट लैब से अपना टेस्ट करवाया था, जिसमें उन्हें पॉजीटिव बताया गया है।

हालांकि बता दें कि पिछले दिनों प्राईवेट लैब से करवाए गए टेस्ट के परिणाम गलत भी आए हैं। जिस वजह से सरकार ने गुरूग्राम की एक लैब को बैन कर दिया था। इस टेस्ट की प्रमाणिकता भी तभी पता चलेगी, जब वह दोबारा से सरकारी लैब से टेस्ट करवाएंगे। यहां यह भी बता दें कि सैक्टर 16 को कंटेनमेंट जोन हटाने के अगले ही दिन वहां से कोरोना पॉजीटिव केस सामने आ गया। संभावना है कि इस सेक्टर को फिर से कंटेनमेंट जोन में शामिल करने पर प्रशासन को विचार करना पड़ सकता है।

सैक्टर 16 को रविवार दोबारा जारी हुई सूची से बाहर किया गया है। इन दोनों के साथ फरीदाबाद में कोरोना पॉजीटिव की संख्या 98 हो गई है।

जबकि सर्विलांस पर 5991 लोगों को ले लिया गया है। प्रशासन के अनुसार इनमें से 3 लोगों की मौत हो चुकी है। 5357 सैंपल टेस्ट के लिए भेजे गए हैं, जिनमें से 4723 का रिजल्ट निगेटिव आया है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार कोरोना के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए भरसक प्रयास किए जा रहे हैं।

लेकिन लोगों को भी जरूरत है कि वह सरकार के अनुसार अपने आप को और अपने परिजनों को सुरक्षित रखने का जिम्मा अपने हाथ में रख कर चलें।

Latest articles

सैनिक कॉलोनी के लोग रोज़ लड़ते है टूटी-फूटी जर्जर सड़कों से जंग, अफसर की लापरवाही से जनता परेशान

वर्षा होने के बाद सैनिक कॉलोनी की सड़कों की हालत खराब हो गई है।...

10वीं फेल होने के बाद पढ़ाई छोड़ने का बना लिया था। मन पिता ने दी ऐसी नसीहत की पास कर गए यूपीएससी परीक्षा!

असफलता किसी के जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और हर कोई नहीं जानता...

व्हाट्सएप पर एक क्लिक बना रहा है। लोगों को कंगाल कहीं आप से तो नहीं हो रही है यह गलतियां।

दुनिया भर में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाने वाला सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म यानी कि...

More like this

सैनिक कॉलोनी के लोग रोज़ लड़ते है टूटी-फूटी जर्जर सड़कों से जंग, अफसर की लापरवाही से जनता परेशान

वर्षा होने के बाद सैनिक कॉलोनी की सड़कों की हालत खराब हो गई है।...

10वीं फेल होने के बाद पढ़ाई छोड़ने का बना लिया था। मन पिता ने दी ऐसी नसीहत की पास कर गए यूपीएससी परीक्षा!

असफलता किसी के जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और हर कोई नहीं जानता...