HomeFaridabadHaryana News : आंदोलन में गए पिता को ना हो घर की...

Haryana News : आंदोलन में गए पिता को ना हो घर की फ़िक्र, बेटी ने उठाया यह कदम

Published on

बेटियों को मौक़ा मिले तो बेटों को मीलों पीछे छोड़ सकती हैं बेटियां। साहस, हुनर, कला और द्रढ़ संकल्प की जब बात आती है तो बेटियों को कोई मात नहीं दे सकता। हरियाणा के फतेहाबाद की एक 11 साल की मासूम बेटी ने साहस और पराक्रम की ऐसी ही मिसाल पेश की है। दरअसल, इन दिनों पंजाब और हरियाणा के हज़ारों किसान दिसंबर की सर्द रातें सड़कों पर बिताने को मजबूर हैं।

Haryana News : आंदोलन में गए पिता को ना हो घर की फ़िक्र, बेटी ने उठाया यह कदम

किसानों का मानना है कि केंद्र द्वारा जो कृषि अध्यादेश पारित किए गए हैं वे किसानों के हित में नहीं बल्कि पूंजी पतियों की जेब भरने वाले हैं। इतना ही नहीं, किसानों को हर राज्य से समर्थन मिल रहा है। साथ ही, अब विविध क्षेत्रों के अन्नदाता भी आंदोलन का हिस्सा बनते जा रहे हैं। ऐसे में, फतेहाबाद का एक मामूली किसान जब अपनी मांग सरकार तक रखने के लिए दिल्ली की सीमाओं पर डटा तो पीछे से उनके बच्चे उनकी गैरमौजूदगी में खेतीबाड़ी संभाल रहे हैं।

Haryana News : आंदोलन में गए पिता को ना हो घर की फ़िक्र, बेटी ने उठाया यह कदम

बता दें कि हरियाणा में सिर्फ बेटे ही नहीं, बेटियां भी खेतों में सिंचाई से लेकर अन्य काम काज कर रही हैं। फतेहाबाद में 11 साल की बेटी ने अपने पिता की गैरमौजूदगी में खेती-बाड़ी कर रही है। पूरे दिन अपनी माँ और भाईओं के साथ खेती करवा कर रात में घर लौटी बेटी ने जब यह बात अपने पिता को फ़ोन पर बताई तो पिता मन बेटी के लिए प्रेम से गया और प्रेम से गदगद हो गया।

Haryana News : आंदोलन में गए पिता को ना हो घर की फ़िक्र, बेटी ने उठाया यह कदम

घरवालों से बात कर पता लगाया गया कि बेटी का नाम प्रिय है उसकी उम्र मात्र 11 साल है। पूछने पर प्रिय ने बताया कि उसके पापा आंदोलन में गए हैं और उसने खेत में सींचाई करने के लिए पहले नाकाबंदी की और फिर ठंड में भी कस्सी लेकर खेतों में डटी रही।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...