HomeIndiaमंडप पर बैठी दुल्हन करती रह गई इंतजार, 'दिल्ली वाली गर्लफ्रैंड' को...

मंडप पर बैठी दुल्हन करती रह गई इंतजार, ‘दिल्ली वाली गर्लफ्रैंड’ को लेकर दूल्हा हुआ फरार..

Published on

‘आया दिल्ली वाली गर्लफ्रैंड छोड़-छाड़ के’ ये गाना तो आप सभी ने कई बार सुना होगा लेकिन उत्तर प्रदेश के बदायूं में इसका एकदम उलट मामला सामने आया है, जहां एक युवक अपनी होने वाली दुल्हन को छोड़कर दिल्ली वाली गर्लफ्रैंड के साथ फरार हो गया।

बारात लेकर जा रहे दूल्हे को उसकी गर्लफ्रैंड ने बग्गी पर चढ़कर उसे रोका और दूल्हा अपनी पगड़ी आदि बग्गी को छोड़कर कार में गर्लफ्रैंड के साथ चला गया और बाराती देखते रह गए। ये मामला उझानी इलाके का है, जहां एक युवक दिल्ली में नौकरी करता था।

मंडप पर बैठी दुल्हन करती रह गई इंतजार, 'दिल्ली वाली गर्लफ्रैंड' को लेकर दूल्हा हुआ फरार..

वहां उसकी मुलाकात एक युवती से हुई और दोनों ने वहीं पर शादी कर ली। लेकिन परिजनों को इस बात की खबर नहीं थी। नतीजतन परिवार वालों ने उसकी शादी कछला रोड निवासी एक युवती के साथ तय कर दी। जब युवक घर पहुंचा तो परिजनों ने उसे बताया कि शादी तय हो चुकी है और बैंडबाजा भी बुक है।

मंडप पर बैठी दुल्हन करती रह गई इंतजार, 'दिल्ली वाली गर्लफ्रैंड' को लेकर दूल्हा हुआ फरार..

झगड़ा ना हो इसलिए उसने अपनी शादी का जिक्र नहीं किया। जिसके बाद शादी की रस्में पूरी होने के साथ ही बारात भी जाने लगी। लेकिन इसकी भनक पहली पत्नी को लगी तो वह सीधा उझानी पहुंच गई। बारात उझानी के पुराने टाकीज के पास थी और बाराती नाचने-गाने मगन थे।

मंडप पर बैठी दुल्हन करती रह गई इंतजार, 'दिल्ली वाली गर्लफ्रैंड' को लेकर दूल्हा हुआ फरार..

पहली पत्नी ने बग्गी पर चढ़कर पांच सौ रुपये का नोट दूल्हे के सिर पर लगाया। अपने ही पति की शादी में फोटो खिंचवाये तो लोग यह देख कर दंग रह गये कि आखिरकार वह कौन है। जबकि इसके बाद उसने दूल्हे को हड़काया तो दूल्हा कार में बैठकर उसके साथ चला गया।

मंडप पर बैठी दुल्हन करती रह गई इंतजार, 'दिल्ली वाली गर्लफ्रैंड' को लेकर दूल्हा हुआ फरार..

बारात भी रास्ते से ही वापस लौट गई। लेकिन किसी भी पक्ष द्वरा इस मामले को पुलिस के संज्ञान में नहीं लाया गया है। महामारी के दौर में आए दिन विवाह से जुडी ऐसी ख़बरें सामने आ रही हैं जिनमे कुछ ना कुछ अतरंगी देखने को मिल जाता है।

किसान आंदोलन के चलते भी लोगों की शादियों में परेशानी आई है हर किसी को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
Written by : Kajal Singh

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...