Pehchan Faridabad
Know Your City

बॉलीवुड गैंग की साजिश का शिकार हो चुके थे राजा बाबू गोविंदा, आज हो चुके हैं काम के लिए मोहताज

बॉलीवुड के ‘राजा बाबू’ कहिए या ‘हीरो नंबर वन’ अभिनेता गोविंदा ने ये खिताब अपनी मेहनत और दर्शकों के प्यार से हासिल किए हैं। आज गोविंदा अपना 57वां जन्मदिन सेलीब्रेट कर रहे हैं। गोविंदा का जन्म 21 दिसंबर 1963 को अभिनेता अरुण कुमार आहूजा के घर में हुआ था।

लगभग 30 फिल्मों में बतौर हीरो काम कर चुके गोविंदा के पिता ने सिर्फ एक फिल्म प्रोड्यूस की थी, जिसमें उन्हें जबरदस्त घाटा हुआ था। इसी के बाद उन्हें कार्टर रोड पर स्थित अपना बंगला बेच कर परिवार सहित विरार में जाकर रहना पड़ा था। विरार में ही गोविंदा का जन्म हुआ था। 6 भाई-बहनों में गोविंदा सबसे छोटे हैं। गोविंदा को ‘सेल्फमेड हीरो’ कहा जाता है। 

बिना किसी गॉडफादर के गोविंदा ने फिल्मों में कदम रखा और ऐसे रखा, की आते ही वह पर्दे पर छा गए। साल 1986 में गोविंदा की पहली फिल्म ‘इल्ज़ाम’ रिलीज़ हुई थी। फिल्म सफल रही और गोविंदा के करियर को स्पीड मिल गई। जिसके कुछ वक्त बाद ही रिलीज़ हुई फिल्म ‘लव 86’।

बैक टू बैक दो फिल्मों की सफलता ने गोविंदा के करियर को पंख दे दिए। 90 के दौर में तो गोविंदा का जादू खूब चला। जबरदस्त कॉमिक टाइमिंग के साथ कमाल का डांस और गजब का एक्शन करने वाले गोविंदा उस दौर में टिकटविंडो पर फिल्म को बेचने वाला कम्पलीट पैकेज बन गए।

सोने पर सुहागा गोविंदा की चिकनी सूरत और उनके रंग-बिरंगे कपड़े भी दर्शकों को खूब पसंद आते थे। अपनी फिल्मों में गोविंदा वो कर रहे थे जो ना तो रोमांटिक हीरो शाहरुख, आमिर, सलमान खान कर सकते थे और ना ही एक्शन हीरो सुनील शेट्टी, संजय दत्त और अक्षय कुमार कर पा रहे थे।

लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि गोविंदा के करियर में भी वो दौर आया था जब वो हुए थे बॉलीवुड गैंग की ‘इनसिक्योरिटी’ और ‘साजिश’ के शिकार। ये वो दौर था जब गोविंदा के फिल्मी करियर में एका-एक ठहराव आना शुरु हो गया था। उस दौर में जब परिस्थितियां गोविदां के खिलाफ थीं, तब भी वह इंडस्ट्री में टिके रहे और अपना काम करते रहे।

लेकिन तभी बॉलीवुड गैंग को मौका मिल गया गोविंदा को पूरी तरह से साइडलाइन करने का। उनसे फिल्में छीनने का और उन्हें घर में खाली बैठे रहने के लिए मजबूर करने का। गोविंदा तो कई बार अपने इंटरव्यूज़ में इस बात का ज़िक्र कर चुके हैं। कैसे उनके खास दोस्तों ने ही उनसे मुंह मोड़ लिया था।

लेकिन अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद जब बॉलीवुड में ‘नेपोटिज्म’ और ‘गुट्टबाज़ी’ को लेकर बहस शुरु हुई थी, तब इंडस्ट्री के दिग्गज कलाकार शत्रुघन सिन्हा ने भी इस बार का खुलासा किया था। शत्रुघन सिन्हा ने एक टीवी न्यूज़ चैनल को दिए अपने इंटरव्यू में स्वीकार किया था कि फिल्म इंडस्ट्री में ‘बॉलीवुड गैंग’ और ‘भाई-भतीजावाद’ कल्चर काफी पुराना है।

इसी ‘बॉलीवुड गैंग’ का शिकार गोविंदा भी हुए थे। शत्रुघन सिन्हा के मुताबिक अपने दौर में हिट की गारंटी बन चुके गोविंदा को एक के बाद एक फिल्में मिल रही थीं। जो सभी हिट रहती थीं। और यही बात ‘बॉलीवुड गैंग’ को पच नहीं रही थी। लेकिन एक बार गोविंदा के करियर में थोड़ा मुश्किल वक्त आया तभी ‘बॉलीवुड गैंग’ उनके करियर पर हावी हो गया।

उन्हें साइडलाइन कर दिया गया और फिल्में छीन ली गई। यहां तक कि एक फिल्म तो ऐसी थी जिसकी वह शूटिंग भी शुरु कर चुके थे। हांलाकि वो बूरा दौर भी अब गुज़र रहा है। गोविंदा एक बार फिर अपने करियर को मैनेज कर रहे हैं। फैंस से गोविंदा को आज भी उतना ही प्यार और सम्मान मिलता है।

Written by: Kajal Singh

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More