HomeEducationयुवा गणितज्ञों के लिए हमेशा प्रेरणा बने रहेंगे श्रीनिवास रामानुजनः प्रो. दिनेश...

युवा गणितज्ञों के लिए हमेशा प्रेरणा बने रहेंगे श्रीनिवास रामानुजनः प्रो. दिनेश कुमार

Published on

महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन की 133वीं जयंती के उपलक्ष्य में ‘राष्ट्रीय गणित दिवस’ पर जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद के गणित विभाग द्वारा हरियाणा राज्य विज्ञान, नवाचार एवं प्रौद्योगिकी परिषद के संयुक्त तत्वावधान में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

युवा गणितज्ञों के लिए हमेशा प्रेरणा बने रहेंगे श्रीनिवास रामानुजनः प्रो. दिनेश कुमार


कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र को टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च, मुंबई से प्रोफेसर अमलेंदु कृष्णा ने संबोधित किया। सत्र की अध्यक्षता कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने की।


इससे पहले, कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती वंदना के साथ हुई। इसके बाद गणित विभाग की अध्यक्षा डॉ. नीतू गुप्ता ने अतिथि वक्ताओं का स्वागत किया। डॉ. गुप्ता ने विभाग की गतिविधियों तथा आयोजन पर संक्षिप्त परिचय प्रस्तुत किया।

युवा गणितज्ञों के लिए हमेशा प्रेरणा बने रहेंगे श्रीनिवास रामानुजनः प्रो. दिनेश कुमार


अपने संबोधन में प्रो अमलेंदु कृष्ण, जो विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में प्रतिष्ठित शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार विजेता है, ने गणित को एक शुद्ध विज्ञान बताया। प्रो. कृष्णा ने गणितीय समीकरणों पर रोचक व्याख्यान दिया और विद्यार्थियों को गणित सीखने के आसान तौर-तरीकों के लिए प्रोत्साहित किया।
महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि रामानुजन भारत के महानतम गणितज्ञों में से एक थे, और उनके काम की आधुनिक गणित के विकास में मौलिक भूमिका थी। उन्होंने कहा कि रामानुजन आने वाली पीढ़ियों के लिए एक प्रेरणा बने रहेंगे।


समापन सत्र में पंजाब विश्वविद्यालय, चंडीगढ़ के गणित विभाग से प्रो ए.के. अग्रवाल मुख्य वक्ता थे जिन्होंने श्रीनिवास रामानुजन के जीवन से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां प्रस्तुत की।
इस अवसर पर पोस्टर प्रतियोगिता, वाद-विवाद प्रतियोगिता और पीपीटी प्रस्तुति प्रतियोगिता आयोजित की गई। इस प्रतियोगिताओं में लगभग 100 विद्यार्थियों की भागीदारी रही।
का भी आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता में विश्वविद्यालय एवं अन्य शिक्षण संस्थानों के लगभग 50 विद्यार्थियों की भागीदारी रही।


पोस्टर प्रतियोगिता में पहला पुरस्कार जे.सी. बोस विश्वविद्यालय के इलेक्ट्रॉनिक्स एवं कंप्यूटर इंजीनियरिंग में बीटेक का छात्र विकास कुमार विजेता रहा। दूसरा एवं तीसरा पुरस्कार क्रमशः जे.सी. बोस विश्वविद्यालय में बीएससी ऑनर्स (गणित) की छात्रा दृष्टि और एमडीयू, रोहतक में एमएससी (गणित) की छात्रा प्राची ने जीता।

युवा गणितज्ञों के लिए हमेशा प्रेरणा बने रहेंगे श्रीनिवास रामानुजनः प्रो. दिनेश कुमार


वाद-विवाद प्रतियोगिता में जे.सी. बोस विश्वविद्यालय में एमएससी (गणित) से दिव्या बब्बर ने पहला, बीएससी (गणित) से आर्यन ने दूसरा तथा और एमडीयू रोहतक से प्राची ने तीसरा पुरस्कार जीता।
पीपीटी प्रतियोगिता में जे.सी. बोस विश्वविद्यालय से बीटेक (आरसीई) के आर्यन और बीएससी (गणित) की अशिता ने क्रमशः पहला और दूसरा पुरस्कार प्राप्त किया और तीसरा पुरस्कार एमडीयू रोहतक से एमएससी (गणित) की छात्रा मोनिका ने जीता।

Latest articles

ये क्या हरियाणा रोडवेज ने बढ़ाया किराया, सवारियों को देने पड़ेंगे 5रूपए एक्स्ट्रा।

हरियाणा में जींद से चंडीगढ़ तक का सफर करने वाले लोगों की अब जेब...

हरियाणा सरकार के अधिकारी बिना अनुमति के नहीं कर सकेंगे यात्रा, वजह जानकर हो जाओगे हैरान!

हरियाणा सरकार की आंखों में धूल झोंकने वाले आशिक हवाई यात्रा के नाम पर...

WWE में जमा चुकी है अपनी धाक,  पहली भारतीय महिला रेसलर कविता देवी पर बनेगी फिल्म। जानें पूरी खबर।

कविता देवी, जिन्हें WWE के साथ साइन की गई पहली पेशेवर भारतीय महिला पहलवान के...

फरीदाबाद में वाहनों की गति होगी हाईवे पर रंबल स्ट्रिप से नियंत्रित, जाने कैसे?

हाईवे पर हादसों की मुख्य वजह तेज रफ्तार है। हाईवे की मुख्य लेन पर...

More like this

ये क्या हरियाणा रोडवेज ने बढ़ाया किराया, सवारियों को देने पड़ेंगे 5रूपए एक्स्ट्रा।

हरियाणा में जींद से चंडीगढ़ तक का सफर करने वाले लोगों की अब जेब...

हरियाणा सरकार के अधिकारी बिना अनुमति के नहीं कर सकेंगे यात्रा, वजह जानकर हो जाओगे हैरान!

हरियाणा सरकार की आंखों में धूल झोंकने वाले आशिक हवाई यात्रा के नाम पर...

WWE में जमा चुकी है अपनी धाक,  पहली भारतीय महिला रेसलर कविता देवी पर बनेगी फिल्म। जानें पूरी खबर।

कविता देवी, जिन्हें WWE के साथ साइन की गई पहली पेशेवर भारतीय महिला पहलवान के...