HomePoliticsकिसानों के लिए आगे आए अभय चौटाला, जानिए किस दिन पहुंचेंगे किसानों...

किसानों के लिए आगे आए अभय चौटाला, जानिए किस दिन पहुंचेंगे किसानों का समर्थन करने

Published on

इंडियन नेशनल लोकदल के प्रदेशाध्यक्ष नफे सिंह राठी ने शनिवार को बयान जारी करते हुए कहा कि इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला सोमवार 28 दिसंबर को सुबह 11 बजे राई के विश्राम गृह पहुंचेंगे

वहां से हजारों किसानों के साथ सिंघु बार्डर पर किसान आंदोलन को समर्थन देने जाएंगे। इससे पहले भी अभय सिंह चौटाला ने 9 दिसम्बर को टिकरी बॉर्डर पर पहुंचकर किसान आंदोलन को समर्थन दिया था।

किसानों के लिए आगे आए अभय चौटाला, जानिए किस दिन पहुंचेंगे किसानों का समर्थन करने

राठी ने कहा कि आज पूरे देश का किसान केंद्र द्वारा बनाए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ देश की राजधानी के बार्डर पर पिछले एक महीने से आंदोलनरत है। जहां आम आदमी इस भीषण ठंड में अपने घरों में सुख की नींद सोता है वहीं देश का अन्नदाता सडक़ों पर सोने को मजबूर है। उन्होंने कहा कि अभय सिंह चौटाला आंदोलन के पहले दिन से ही काले कानूनों के खिलाफ किसानों के पक्ष में खड़े हैं और लगातार अन्नदाता की आवाज को हर मुमकिन प्लेटफार्म पर उठा रहे हैं।

प्रदेशाध्यक्ष ने बताया की इनेलो पार्टी चौधरी देवी लाल का लगाया हुआ पौधा है जिन्होंने अपनी पूरी जिंदगी किसानों और गरीब लोगों के उत्थान में समॢपत कर दी थी। इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला स्वयं खेती करते हैं और किसान के हर दर्द को समझते हैं इसलिए राजनीति से ऊपर उठकर एक किसान के नाते हर संभव मदद कर रहे हैं।

किसानों के लिए आगे आए अभय चौटाला, जानिए किस दिन पहुंचेंगे किसानों का समर्थन करने

राठी ने बताया की अभय चौटाला के आदेशानुसार इनेलो के हजारों कार्यकर्ता किसान संगठन के झंडे के नीचे पहले दिन से ही इस आंदोलन का हिस्सा बने हुए हैं जो दिन-रात विपरीत परिस्थितियों के बावजूद इस भीषण ठंड में धरने पर डटे हुए हैं।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...