HomeIndiaजानिए आख़िर कैसे एक बकरी की मौत से कोयला कंपनी को लग...

जानिए आख़िर कैसे एक बकरी की मौत से कोयला कंपनी को लग गया ढाई करोड़ से ज्यादा का चूना

Published on

ओडिशा में एक सड़क हादसे में एक बकरी की मौत हो गयी। बकरी के मौत के बाद जो हुआ उसके बारे में आप सोच भी नहीं सकते। जी हां आप सोच सकते है कि एक बकरी की मौत के बाद एक कंपनी को करोड़ों का चूना लग सकता है। तो ये बात बिल्कुल सच है। कुछ ऐसा ही वाक्या हुआ है। दरअसल महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड की कोयला परिवहन टिपर (डंपर) की चपेट में आने से एक बकरी की मौत हो गई थी।

इस बकरी की मौत से नाराज ग्रामीणों ने इतना बड़ा आंदोलन छेड़ दिया कि एमसीएल को 2.68 करोड़ रुपये का नुकसान हो गया। कंपनी की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि एक कोयला परिवहन डंपर की चपेट में आने से एक बकरी की मौत हो गई थी, जिसके चलते स्थानीय लोगों ने 60 हजार रुपये के मुआवजे की मांग की।

इसी बीच कुछ लोगों ने लालचेर कोयला क्षेत्र में सोमवार सुबह 11 बजे कोयला परिवहन में काम को रोक दिया। वहीं जिसके बाद वरिष्ठ अधिकारियों और पुलिस के हस्तक्षेप के बाद ही अपराह्न 2.3० बजे ही कार्य पुन: प्रारंभ हो सका। एमसीएल ने बयान में कहा कि तीन और एक आंधे घंटे से भी अधिक समय तक काम रोके जाने से कंपनी को 1.4 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ।

वहीं रेलवे के माध्यम से डिस्पैच पर 1.28 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा। इसमें कहा गया कि इस अभूतपूर्व ठहराव के कारण सरकार को भी 46 लाख रुपये का नुकसान उठाना पड़ा। कंपनी ने स्थानीय पुलिस में अवैध बाधा उत्पन्न करने को लेकर लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करवाई है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...