Online se Dil tak

SBM की टीम ने उठाया फरीदाबाद को साफ करने का बीड़ा, क्या फेल हो गए निगम के तरीके?

स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में अव्वल आने के लिए फरीदाबाद ने कमर कस ली है। एड़ी चोटी का जोर लगाकर स्वच्छता सर्वेक्षण अभियान में पहले दर्जे पर आने के लिए फरीदाबाद कोई कसर अधूरी नहीं छोड़ रहा है। इसके लिए स्वच्छ भारत मिशन एमबीएम की टीम अब फरीदाबाद के लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए घर घर पहुंचने लगी है।

SBM की टीम ने उठाया फरीदाबाद को साफ करने का बीड़ा, क्या फेल हो गए निगम के तरीके?
SBM की टीम ने उठाया फरीदाबाद को साफ करने का बीड़ा, क्या फेल हो गए निगम के तरीके?

बता दें कि नगर निगम द्वारा पहले ही लोगों को जागरूक करने के लिए अनेकों प्रयास किए गए हैं। स्वच्छता सर्वेक्षण को ध्यान में रखते हुए स्वच्छ भारत मिशन एमबीएम की टीम के सदस्यों ने लोगों को गीला व सूखा कचरा अलग अलग करने के बारे में भी जानकारी दी है। साथ ही इको ग्रीन की कंपनी द्वारा भी अनेकों गाड़ियां चलाई जा रही है जो लोगों के घर-घर घूम कर कचरा उठाकर ले जाती है।

SBM की टीम ने उठाया फरीदाबाद को साफ करने का बीड़ा, क्या फेल हो गए निगम के तरीके?
SBM की टीम ने उठाया फरीदाबाद को साफ करने का बीड़ा, क्या फेल हो गए निगम के तरीके?

बता दें कि एमबीएम की टीम पहले वार्ड नंबर 7, 12, 27, 30 और 35 पर ध्यान केंद्रित कर रही है और इन केंद्रों को चयनित करने के बाद बाकी क्षेत्रों पर भी यही फार्मूला अपनाया जाएगा। इतना ही नहीं स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 को ध्यान में रखते हुए इन वार्डों को आदर्श बनाया जा रहा है। इसका मतलब यह हुआ कि इन वार्डों में 100 फ़ीसदी घरों से कचरा एकत्र किया जाना है जो अलग-अलग यानी गीला और सूखा कचरा डिस्पोजल होगा।

SBM की टीम ने उठाया फरीदाबाद को साफ करने का बीड़ा, क्या फेल हो गए निगम के तरीके?
SBM की टीम ने उठाया फरीदाबाद को साफ करने का बीड़ा, क्या फेल हो गए निगम के तरीके?

टीम के सदस्य वैभव शर्मा का कहना है कि एक नंबर के ब्लॉक तथा सेक्टर 29 में घर-घर जाकर लोगों को जानकारी दी जा रही है कि नव वर्ष में 1 मार्च से स्वच्छता सर्वेक्षण शुरू होने वाला है। इतना ही नहीं निगमायुक्त डॉ यश कर भी अपनी ओर से अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करने की कोशिश कर रहे हैं। उनका कहना है कि हर नागरिक का सहयोग मिलेगा तो हम स्वच्छता के मामले में बेहतर रैंकिंग हासिल कर पाएंगे।

Read More

Recent