Pehchan Faridabad
Know Your City

शर्मशार : हरियाणा की माटी में खेलती बच्चियों की तकदीर, हर तीसरे दिन दिखती है रेप की तस्वीर

भले ही हमारे देश ने बेटी बेटे को एक समान अधिकार देने के लिए कमर कसी हुई है। मगर वास्तव यह कहावत हमारे देश में सोच बदल पाई है। अगर सच कहा जाए तो कतई नहीं। हर तीसरे दिन हरियाणा में नाबालिग बेटी की जिंदगी से खिलवाड़ होता है।

एक साल में अभी तक 115 दुष्कर्म के मामले सामने आए हैं। ये मामले तो वे हैं जिनमें एफ.आई.आर. दर्ज है, बहुत से मामले ऐसे होते हैं जिनमें नाबालिगा के परिजन डर के मारे सामने नहीं आते और पुलिस को शिकायत नहीं देते या बहुत से मामलों में परिजनों को डराकर समझौता करवा लिया जाता है।

इ 115 मामले नाबालिगा से दुष्कर्म के सामने आए हैं। शिकार हो रही ज्यादातर लड़कियां 14 से 16 वर्ष की हैं। इतना ही नहीं दुष्कर्म करने वाले आरोपी पीड़िता के रिश्तेदार, पड़ोसी या जान-पहचान वाले होते हैं जो पहले उसके घर में आना-जाना करते हैं और मौका पाकर इस तरह की वारदात को अंजाम दे जाते हैं।


वहीं वर्ष 2018 में दुष्कर्म के 111 मामले सामने आए थे। इस वर्ष जनवरी से मार्च तक 31 मामले सामने आए, जबकि अप्रैल से जून तक 22 मामले दर्ज हुए। जुलाई से सितम्बर तक 33 मामले सामने आए। अक्तूबर माह में 17 मामले दुष्कर्म के सामने आए। नवम्बर में 7 मामले सामने आए तथा दिसम्बर माह में अब तक 5 मामले सामने आ चुके हैं। इन ज्यादातर मामलों में पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है।

सी.एम. सिटी में दुष्कर्म का ताजा मामला सामने आया है, जिसमें एक 16 वर्षीय नाबालिग लड़की को घर छोडऩे के नाम पर एक युवक ने दुष्कर्म किया। पुलिस ने केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पानीपत निवासी लड़की सहेली के पास करनाल आई हुई थी। देर सायं घर वापस जाने की बात कहकर करनाल बस स्टैंड पर आ गई

मगर वहां उसको पानीपत जाने के लिए बस नहीं मिली। लड़की का आरोप है कि आरोपी उसे कार में बिठाकर ले जा रहा था मगर वह जी.टी. रोड पर जाने की बजाय, सुनसान रास्ते पर ले गया, जहां उसने उसके साथ दुष्कर्म किया। उसके बाद आरोपी उसे घर छोड़ आया। इस बारे लड़की ने अपनी मां को सारी बात बताई जिसके बाद मामले की शिकायत पुलिस को दी गई।

पुलिस ने तुरंत केस दर्ज कर लड़की का मैडीकल करवा उसको बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया, जहां उसकी काउंसलिंग की जा रही है। मामले की जांच अधिकारी सुनिता देवी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

समिति चेयरमैन की कथनी

बाल कल्याण समिति के चेयरमैन उमेश चानना ने बताया कि लड़की की काऊंसिङ्क्षलग की जा रही है। उन्होंने सभी परिजनों से कहा कि अपने बच्चों का पूरा ध्यान रखें। वे कब कहां जा रहे हैं, कहां से आ रहा है। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि घर में आने वाले युवकों पर भी नजर रखें कि वे किस कार्य से आ रहा है।

बच्चों को जागरूक करें ताकि वे किसी अनहोनी का शिकार न हो सकें। उन्होंने कहा कि यदि कहीं पर भी कोई नाबालिग बच्चे का शोषण हो रहा है, तो वे तुरंत मामले की शिकायत पुलिस को दें।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More